close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

आसाराम जेल में ही रहेंगे, 3 जुलाई को सुनवाई

लड़की के कथित यौन उत्पीड़न के आरोप में अगस्त, 2013 से जेल में बंद विवादास्पद धर्मगुरू आसाराम को अभी कुछ समय और सलाखों के पीछे रहना होगा क्योंकि उच्चतम न्यायालय ने सोमवार को उनकी जमानत याचिका पर सुनवाई 3 जुलाई के लिये स्थगित कर दी।

नई दिल्ली : लड़की के कथित यौन उत्पीड़न के आरोप में अगस्त, 2013 से जेल में बंद विवादास्पद धर्मगुरू आसाराम को अभी कुछ समय और सलाखों के पीछे रहना होगा क्योंकि उच्चतम न्यायालय ने सोमवार को उनकी जमानत याचिका पर सुनवाई 3 जुलाई के लिये स्थगित कर दी।
न्यायमूर्ति बी एस चौहान और न्यायमूर्ति ए के सीकरी की खंडपीठ ने 75 वर्षीय धर्मगुरू आसाराम की जमानत और बच्चों का यौन अपराधों से संरक्षण (पोस्को) कानून के तहत दर्ज आरोप हटाने के लिये दायर याचिकाओं पर सुनवाई ग्रीष्मावकाश के बाद 3 जुलाई के लिये स्थगित कर दी।
आसाराम ने कथित पीड़ित के नाबालिग होने को चुनौती देते हुये कहा है कि उसका जन्म 1997 में नहीं बल्कि 1995 में हुआ है। लड़की के पिता के अनुसार उसका जन्म 1997 में हुआ है।
राजस्थान उच्च न्यायालय ने इससे पहले जोधपुर के आश्रम में नाबालिग लड़की के यौन उत्पीड़न के मामले में फरवरी में आसाराम को जमानत देने से इंकार कर दिया था।
आसाराम को पिछले साल अगस्त में गिरफ्तार किया गया था। इसके बाद से ही वह जोधपुर में केन्द्रीय जेल में बंद हैं। (एजेंसी)