तेलंगाना बिल के खिलाफ बंद से सीमांध्र में जनजीवन प्रभावित

लोकसभा में तेलंगाना विधेयक पेश किए जाने के विरोध में एपीएनजीओ’ज और वाईएसआर कांग्रेस के बंद के आह्वान के बाद राज्य के रायलसीमा और तटीय आंध्र क्षेत्र के 13 जिलों में दूसरे दिन भी जनजीवन प्रभावित रहा।

हैदराबाद: लोकसभा में तेलंगाना विधेयक पेश किए जाने के विरोध में एपीएनजीओ’ज और वाईएसआर कांग्रेस के बंद के आह्वान के बाद राज्य के रायलसीमा और तटीय आंध्र क्षेत्र के 13 जिलों में दूसरे दिन भी जनजीवन प्रभावित रहा।
बंद के दौरान जगह जगह रैलियां निकाली गईं और प्रदर्शन किए गए जिससे कारोबारी प्रतिष्ठान और शैक्षिक संस्थान बंद रहे। विशाखापटनम, कृष्णा, पूर्वी गोदावरी, गुंटूर, कडप्पा, कुरनूल, अनंतपुर और चित्तूर जिलों में आंध्रप्रदेश राज्य परिवहन निगम की बसें भी नहीं चलीं। पुलिस के अनुसार, बंद का असर तिरूपति और विजयवाड़ा में भी रहा लेकिन वहां स्थिति अब तक सामान्य है।
कई जगहों पर बस डिपो के बाहर प्रदर्शनकारियों ने धरना दिया जिससे गाड़ियां बाहर नहीं आ सकीं। एकीकृत आंध्रप्रदेश के समर्थकों ने राज्य का विभाजन करने के केंद्र सरकार के फैसले के विरोध में सीमांध्र में जगह जगह रैलियां निकालीं। प्रदर्शनकारी संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी के खिलाफ नारे लगा रहे थे। उन्होंने टायर भी जलाए।
इस बीच, वाईएसआर कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने अनंतपुर में बाइक रैली निकाली और एकीकृत आंध्रप्रदेश के पक्ष में नारे लगाए। डीआईजी बी बालकृष्णा ने बताया, ‘स्थिति शांतिपूर्ण है, दुकानें और कारोबारी प्रतिष्ठान बंद रहे। अनंतपुर, चित्तूर और तिरूपति में रैलियां निकाली गईं। आंध्रप्रदेश राज्य परिवहन निगम की बसें नहीं चलीं और स्कूल तथा कॉलेज नहीं खुले।’ (एजेंसी)

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.