बर्धवान विस्फोट मामले में दो संदिग्धों की तलाश में जुटे अधिकारी

सीआईडी बर्धवान विस्फोट मामले में दो संदिग्धों कौसर और अब्दुल कलाम शेख की तलाश कर रही है। 2 अक्तूबर को हुए विस्फोट में दो संदिग्ध आतंकी मारे गए और एक अन्य घायल हो गया।

कोलकाता: सीआईडी बर्धवान विस्फोट मामले में दो संदिग्धों कौसर और अब्दुल कलाम शेख की तलाश कर रही है। 2 अक्तूबर को हुए विस्फोट में दो संदिग्ध आतंकी मारे गए और एक अन्य घायल हो गया।

खगरागढ़ में जहां पर विस्फोट हुआ, संदेह है कि उस घर में कौसर का अक्सर आना जाना था। सीआईडी जिले के मंगलकोट इलाके के निवासी अब्दुल कलाम की भी तलाश कर रही है। विस्फोट के ठीक बाद एक मोबाइल फोन से उसको किये गए सात कॉल के बाद जांचकर्ता उसकी तलाश में जुटे हुए हैं। जिस मोबाइल फोन से कॉल की गयी थी उसे पुलिस ने विस्फोट के बाद घर से बरामद किया।

सीआईडी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘मोबाइल से प्राप्त वीडियो क्लिप में वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हमले के कई फुटेज, जिहाद पर व्याख्यान और अन्य प्रशिक्षण माड्यूल का जिक्र है।’ इस मामले में दो महिलाओं सहित तीन लोगों को अब तक गिरफ्तार किया गया है। जिन्हें गिरफ्तार किया गया है उसमें हाफिज मोल्ला उर्फ हसन भी है जिसे सीआईडी ने पुरबोस्थोली में खार दुट्टपा में उसके घर से पकड़ा।

हाफिज मोल्ला से मिली सूचना के आधार पर पुलिस ने मुख्य संदिग्ध का एक रेखाचित्र जारी किया है, जो बांग्लादेश में रहता है। सीआईडी अधिकारियों ने बताया कि उसे पकड़ने के लिए बर्धवान के सभी पुलिस थाने और निकटवर्ती जिले तथा रेलवे स्टेशनों को ये रेखाचित्र भेज दिया गया है।

सीआईडी अधिकारियों ने बताया कि विस्फोट का साजिशकर्ता विस्फोट को अंजाम देने के लिए कुछ दिनों पहले घर आया था। दो अन्य व्यक्ति जिन्हें गिरफ्तार किया गया है वो राजिरा बीवी उर्फ रूमी और अमीना बीवी हैं।

बर्धवान के पुलिस अधीक्षक एस एम एच मिर्जा ने बताया कि राजिरा बीवी शकील की पत्नी है, जिसकी मौत विस्फोट में हो गयी। अमीना बीवी विस्फोट में घायल हुए हसन साहब की पत्नी है। हसन का बर्धवान मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में इलाज चल रहा है। विस्फोट में दो संदिग्ध आतंकी शकील अहमद और सोवन मंडल मारे गए और एक अन्य हसन साहब घायल हो गया।

सीआईडी टीम ने घर से ग्रेनेड, विस्फोटक बनाने में इस्तेमाल होने वाला रसायन, विस्फोट कैसे किया जाता है इस पर एक किताब, कुछ जिहादी साहित्य, जिहादी प्रशिक्षण पर एक वीडियो और बर्दमान जिले में महत्वपूर्ण ठिकानों का नक्शा जब्त किया। बड़ी संख्या में घड़ियों के डायल, सिम कार्ड्स और आईईडी बनाने में इस्तेमाल होने वाली अन्य चीजें भी घर से जब्त की गयी। संदिग्ध आतंकियों ने कुछ महीने पहले घर किराये पर लिया था और पुलिस ने घर के मालिक हसन चौधरी से भी पूछताछ की है।