हरियाणा चुनाव 2014 : कांग्रेस ने 90 उम्मीदवारों की सूची जारी की

हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए बुधवार रात जारी कांग्रेस की 90 उम्मीदवारों की सूची में राज्य के मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा और उनके कई मंत्रियों के नाम हैं। राज्य में 15 अक्तूबर को चुनाव होना है।

हरियाणा चुनाव 2014 : कांग्रेस ने 90 उम्मीदवारों की सूची जारी की

नई दिल्ली : हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए बुधवार रात जारी कांग्रेस की 90 उम्मीदवारों की सूची में राज्य के मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा और उनके कई मंत्रियों के नाम हैं। राज्य में 15 अक्तूबर को चुनाव होना है।

कुछ सीटों पर उम्मीदवारों के नामों को लेकर मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस समिति प्रमुख अशोक तंवर के बीच मतभेदों के बावजूद सूची जारी कर दी गई। तंवर ने अपने लोगों के नामों पर विचार न किए जाने पर कथित तौर पर इस्तीफे की धमकी दी थी।

अखिल भारतीय कांग्रेस समिति की बैठक में पार्टी प्रवक्ता आनंद शर्मा ने नाराज तंवर और इस्तीफे की उनकी पेशकश पर सवालों की झड़ी के बावजूद अनभिज्ञता जताई। हुड्डा रोहतक जिले के अपने गढ़-गढ़ी सांपला किलोई से चुनाव लड़ेंगे। वहीं विधानसभा अध्यक्ष कुलदीप शर्मा गन्नौर से चुनाव लड़ेंगे।

बिजली मंत्री एवं अखिल भारतीय कांग्रेस समिति के प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला कैथल से उम्मीदवार बनाए गए हैं। पूर्व मुख्यमंत्री बंसीलाल की पुत्रवधू किरण चौधरी तोशाम से पार्टी की उम्मीदवार हैं, वहीं बंसीलाल के बेटे एवं पूर्व विधायक और पूर्व बीसीसीआई प्रमुख रणबीर सिंह महेंद्रा को भिवानी की बाधरा सीट से मैदान में उतारा गया है।

सावित्री जिन्दल को हिसार, कैप्टन अजय सिंह यादव को रेवाड़ी, राव नरेंद्र सिंह को नारनौल और गीता भुक्कल को झज्जर से टिकट दिया गया है। पार्टी ने वरिष्ठ नेता एवं वर्तमान विधायक भरत भूषण बत्रा को रोहतक से चुनाव मैदान में उतारा है।

हरियाणा में कांग्रेस तीसरी बार सरकार बनाने का सपना पाले है। चुनाव में कांग्रेस, भाजपा, इंडियन नेशनल लोकदल और कुछ छोटे दलों के बीच बहुकोणीय मुकाबला होने की उम्मीद है। हालांकि, लड़ाई तीन बड़े दलों के बीच सीमित रहेगी, जबकि अन्य दल खेल बिगाड़ने वाले की भूमिका निभाएंगे।

चुनाव में इस तथ्य के मद्देनजर कांग्रेस के लिए मुकाबला काफी कठिन होगा कि लोकसभा चुनाव में वह 10 सीटों में से मुख्यमंत्री के गृह जिले रोहतक में केवल एक सीट जीत पाई थी। इनेलो ने दो और भाजपा ने सात सीटों पर विजय पताका लहराई थी।