हरियाणा ने अलग SGPC के गठन के लिए विधेयक पारित किया

हरियाणा विधानसभा ने शुक्रवार को एक विधेयक पारित करके राज्य में गुरद्वारों के मामलों का प्रबंधन करने के लिए एक अलग निकाय के गठन का रास्ता साफ कर दिया। वहीं, मुख्य विपक्षी पार्टी इनेलो और भाजपा ने इस मुद्दे पर सदन से बहिर्गमन किया।

चंडीगढ़ : हरियाणा विधानसभा ने शुक्रवार को एक विधेयक पारित करके राज्य में गुरद्वारों के मामलों का प्रबंधन करने के लिए एक अलग निकाय के गठन का रास्ता साफ कर दिया। वहीं, मुख्य विपक्षी पार्टी इनेलो और भाजपा ने इस मुद्दे पर सदन से बहिर्गमन किया।

विधेयक को विधायी कार्य मंत्री रणदीप सुरजेवाला ने पेश किया जिसे इनेलो और भाजपा सदस्यों की अनुपस्थिति में ध्वनि मत से पारित किया गया। दोनों पार्टियों के सदस्यों ने इससे पहले विधेयक का विरोध करते हुए सदन से बहिर्गमन किया था। उनका कहना था कि यह कदम समुदाय को ‘बांटने’ की कांग्रेस की साजिश है।

हरियाणा में भूपेंद्र सिंह हुड्डा नीत कांग्रेस सरकार ने अमृतसर स्थित शिरोमणि गुरद्वारा प्रबंधक कमेटी, शिरोमणि अकाली दल और अन्य समूहों के जोरदार विरोध की अनदेखी करते हुए विधेयक को पारित किया। कांग्रेस ने साल 2005 के अपने चुनाव घोषणा पत्र में अलग एसजीपीसी के गठन का वादा किया था लेकिन हुड्डा सरकार के पहले कार्यकाल में यह मामला अनसुलझा रह गया और हुड्डा सरकार के दूसरे कार्यकाल तक मामला खिंच गया। लेकिन हरियाणा में इस साल अक्तूबर में होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर मुद्दे में तेजी लाई गई है।