हरियाणा का विकास तभी जब भाजपा को स्पष्ट बहुमत मिले : शाह

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने हरियाणा में सत्तारूढ़ कांग्रेस के खिलाफ तीखा प्रहार करते हुए दावा किया कि राज्य का विकास तभी हो सकता है जब भगवा दल को 15 अक्टूबर को होने वाले विधानसभा चुनावों में स्पष्ट जनादेश मिले।

चंडीगढ़ : भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने हरियाणा में सत्तारूढ़ कांग्रेस के खिलाफ तीखा प्रहार करते हुए दावा किया कि राज्य का विकास तभी हो सकता है जब भगवा दल को 15 अक्टूबर को होने वाले विधानसभा चुनावों में स्पष्ट जनादेश मिले।

उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की यहां एक रैली में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की आलोचना करने के लिए हमला किया। सोनिया ने कहा था, ‘जोर से बोलने का यह मतलब नहीं है कि आप सही बोल रहे हैं।’ भाजपा नेता ने कहा कि हरियाणा में किसानों, महिलाओं और युवकों की आवाज तेज है क्योंकि राज्य सरकार ने उनसे ‘अन्याय’ किया है।

राज्य में प्रचार अभियान के तहत गनौर और खरखौदा में चुनावी रैलियों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस शासन के दौरान भ्रष्टाचार का बोलबाला रहा । इसे सत्ता से उखाड़ फेंकने का समय आ गया है।’ भाजपा पहली बार राज्य की सभी 90 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ रही है। इस हफ्ते की शुरूआत में टोहाना, नारनौल और अम्बाला में प्रचार करने वाले शाह ने हुड्डा सरकार को निशाने पर बनाए रखा और आरोप लगाए कि इसने किसानों की जमीन छीन ली और उसे ताकतवर बिल्डरों को सौंप दिया।

उन्होंने आरोप लगाए कि किसानों की जमीन छीन ली गई, महिलाओं के खिलाफ अत्याचार बढ़े जबकि युवक बेरोजगार हो गए। शाह ने कहा, ‘जब उन लोगों की आवाज तेज है तो उनकी आवाज क्यों नहीं सुनाई पड़ रही है?’ उन्होंने कहा कि अगर भाजपा हरियाणा में सत्ता में आती है तो वह राज्य सरकार की कारस्तानियों की जांच कराएंगी।

भाजपा अध्यक्ष ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर हमला करते हुए कहा, ‘दिग्विजय सिंह ने कहा था कि महत्वपूर्ण मुद्दों पर राहुल गांधी की चुप्पी से उन्हें (कांग्रेस) नुकसान हुआ। यह अच्छा है कि उन्होंने नहीं बोला नहीं तो सोचिए लोकसभा चुनावों में उनकी (कांग्रेस की) क्या हालत होती।’