मुझे झूठे केस में फंसाया गया है: नारायण साईं

गिरफ्तार नारायण साईं ने कहा है कि उन्हें झूठे केस में फंसाया गया है।

ज़ी मीडिया ब्यूरो
नई दिल्ली: गिरफ्तार नारायण साईं ने कहा है कि उन्हें झूठे केस में फंसाया गया है। दिल्ली के अंबेडकर अस्पताल में ले जाने के दौरान उन्होंने अपने समर्थकों से कहा कि उन्हें झूठे केस में फंसाया गया है और उनके खिलाफ सभी केस झूठे हैं। नारायण साईं को दिल्ली के रोहिणी कोर्ट में पेश किया जा रहा है।
दो महीने से फरार चल रहे यौन उत्‍पीड़न के आरोपी नारायण साईं को गिरफ्तार कर लिया गया है। नारायण साईं को जिस वक्त गिरफ्तार किया गया उस वक्त वह एक सिख की वेशभूषा में था। पुलिस से बचने के लिए उसने यह वेशभूषा धारण की हुई थी।
साईं के चार साथियों में हनुमान, वाहन चालक रमेश, विष्णु और भाविका शामिल हैं। साईं के साथ हनुमान के खिलाफ भी मामला दर्ज है और उस पर एक लाख रुपये का ईनाम, जबकि साईं पर पांच लाख रुपये का ईनाम घोषित था।
साईं के खिलाफ 30 वर्षीय महिला ने 2001 से 2005 के बीच दुष्कर्म किए जाने का मामला दर्ज कराया था। इस शिकायत के बाद से वह फरार था। सूरत निवासी दो बहनों ने भी आसाराम और साईं के खिलाफ गुजरात के अलग-अलग थानों में दुष्कर्म का मामला दर्ज कराया था।