बीजेपी सांसद लालमुनि चौबे को मोदी भी नहीं मना पाए

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी वरिष्ठ पार्टी नेता और बिहार से चार बार सांसद रह चुके लाल मुनी चौबे को पार्टी छोड़कर बक्सर संसदीय सीट से निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर लड़ने से रोक पाने में असफल रहे।

पटना: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी वरिष्ठ पार्टी नेता और बिहार से चार बार सांसद रह चुके लाल मुनी चौबे को पार्टी छोड़कर बक्सर संसदीय सीट से निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर लड़ने से रोक पाने में असफल रहे। चौबे के करीबी एक भाजपा नेता ने कहा कि मोदी ने निजी तौर पर मंगलवार रात चौबे को फोन कर उनसे बक्सर से निर्दलीय उम्मीदवार के तौर नहीं लड़ने के लिए राजी करने की कोशिश की। लेकिन वह असफल रहे, क्योंकि चौबे अपना नामांकन पत्र दाखिल करने को लेकर अड़े हुए हैं। चौबे को पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी का करीबी माना जाता है।
भाजपा नेता के मुताबिक पार्टी के कुछ प्रमुख केंद्रीय नेताओं द्वारा चौबे को मनाने में असफल रहने के बाद मोदी ने टेलीफोन पर उनसे करीब 10 मिनट तक बात की थी और पार्टी के आधिकारिक उम्मीदवार के विरुद्ध चुनाव नहीं लड़ने के लिए मनाने की कोशिश की थी। भाजपा नेता ने कहा कि चौबे ने मोदी से कहा कि निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ने का उनका फैसला आखिरी है और वह इसमें कोई बदलाव नहीं करेंगे।
भाजपा के बिहार अध्यक्ष मंगल पांडे ने हालांकि उम्मीद जताई कि चौबे पार्टी के विरुद्ध नहीं जाएंगे। चौबे को लोकसभा चुनाव के लिए टिकट नहीं मिलने से वह नाराज हैं। भाजपा ने बक्सर सीट से नितीश सरकार में स्वास्थ्य मंत्री रहे अश्विनी कुमार चौबे को उतारा है, जो भागलपुर के रहने वाले हैं।
चौबे ने फोन पर बुधवार को कहा कि बक्सर सीट पर असली भाजपा उम्मीदवार और नकली भाजपा उम्मीदवार के बीच लड़ाई होगी। चौबे ने कहा कि मैंने भाजपा से त्यागपत्र दे दिया है और घोषणा करता हूं कि मैं बक्सर से निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर लड़ूंगा। (एजेंसी )

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.