close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

छात्रा का अश्लील वीडियो, तीन युवकों पर मामला दर्ज

पुलिस ने यहां तीन युवकों के खिलाफ एक नाबालिग स्कूली छात्रा का अश्लील वीडियो बनाकर उसे ब्लैकमेल करने का मामला दर्ज किया है। इनमें से एक युवक पर छात्रा के साथ बलात्कार करने का मामला भी दर्ज किया गया है। 11वीं कक्षा की छात्रा की शिकायत पर सूरज , दीपेश  और रितेशके खिलाफ अपहरण और आईटी एक्ट की धाराओं में मामला दर्ज किया गया है। पीड़ित छात्रा की शिकायत पर आरोपी दीपेश के खिलाफ दुष्कर्म का मामला भी दर्ज किया गया है।

इन्दौर : पुलिस ने यहां तीन युवकों के खिलाफ एक नाबालिग स्कूली छात्रा का अश्लील वीडियो बनाकर उसे ब्लैकमेल करने का मामला दर्ज किया है। इनमें से एक युवक पर छात्रा के साथ बलात्कार करने का मामला भी दर्ज किया गया है। 11वीं कक्षा की छात्रा की शिकायत पर सूरज , दीपेश  और रितेशके खिलाफ अपहरण और आईटी एक्ट की धाराओं में मामला दर्ज किया गया है। पीड़ित छात्रा की शिकायत पर आरोपी दीपेश के खिलाफ दुष्कर्म का मामला भी दर्ज किया गया है।

टीआई ने दीपा की शिकायत के हवाले से बताया कि 30 जनवरी 2014 को जब वह कोचिंग क्लास जा रही थी। इस बीच दीपेश और उसके दोस्त रितेश और सूरज उसे बहला-फुसला कर दोस्त की बर्थ डे पार्टी में ले जाने की बात कहते हुए स्कीम नंबर 134 के मकानों में ले गये जहां दीपेश ने उसके साथ बलात्कार किया जबकि सूरज और रितेश ने उसका अश्लील वीडियो बनाया। इसके बाद दीपेश ने वीडियो का डर दिखाकर उससे फिर दुष्कर्म किया।

उन्होंने बताया कि बाद में रितेश ने अश्लील वीडियो दिखाकर दीपा को ब्लैकमेल करते हुए 10 हजार रुपये मांगे और रुपये नहीं मिलने पर वीडियो इंटरनेट पर डालने की धमकी दी। दीपा के परिवार ने पुलिस को बताया कि कुछ दिन पहले रितेश घर आया और परिजनों को बेटी का अश्लील वीडियो बताकर 50 हजार रुपये मांगने लगा।

उन्होंने कहा कि दीपा और परिजनों ने परेशान होकर सोमवार को तीनों के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई। गहरवार ने बताया कि पुलिस ने मामला दर्ज कर आगे कार्रवाई के लिये अजाक्स (अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति वर्ग के लोगों के खिलाफ होने वाले अपराधों की जांच करने वाली पुलिस की विशेष ईकाई) थाने को भेज दिया है। क्योंकि पीड़ित छात्रा दलित वर्ग से ताल्लुक रखती है इसलिये इस मामले की जांच और कार्रवाई पुलिस के अजाक्स विभाग के वरिष्ठ अधिकारी द्वारा की जायेगी।