close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

एकमात्र रास्ता रहने के चलते चुनाव का फैसला: केजरीवाल

अरविंद केजरीवाल ने स्पष्ट किया कि दिल्ली के उपराज्यपाल से विधानसभा भंग नहीं करने के आग्रह के बावजूद उन्होंने फिर से चुनाव की बात इसलिए कही क्योंकि नजीब जंग ने उन्हें कहा कि तकनीकी कारणों से सरकार का गठन मुमकिन नहीं है।

नई दिल्ली : अरविंद केजरीवाल ने स्पष्ट किया कि दिल्ली के उपराज्यपाल से विधानसभा भंग नहीं करने के आग्रह के बावजूद उन्होंने फिर से चुनाव की बात इसलिए कही क्योंकि नजीब जंग ने उन्हें कहा कि तकनीकी कारणों से सरकार का गठन मुमकिन नहीं है।
यहां पर बैठक में केजरीवाल ने स्वयंसेवकों से कहा कि मैं मानता हूं कि मैंने उपराज्यपाल (पिछले सप्ताह) को विधानसभा भंग नहीं करने के लिए लिखा क्योंकि मैं लोगों से पूछना चाहता था कि क्या हमें सरकार बनाना चाहिए। उन्होंने कहा कि जब मैं अगले दिन उपराज्यपाल से मिला तो उन्होंने कहा कि तकनीकी कारणों से सरकार का गठन संभव नहीं है और फिर से चुनाव ही एकमात्र विकल्प है।
आप नेता के मुताबिक, लोकसभा परिणाम के बाद उन्होंने पार्टी विधायकों की बैठक बुलायी। उपस्थित 20 में से 16 ने चुनाव की तुलना में सरकार गठन का समर्थन किया। उन्होंने कहा कि लोगों की राय के कारण सरकार गठन का विरोध करने वाले उन चारों ने भी अपना विचार बदल लिया। मैंने विधानसभा और लोकसभा चुनाव हारने वालों की भी एक बैठक बुलायी और 90 प्रतिशत ने सरकार बनाने का समर्थन किया।
केजरीवाल ने कहा कि इसके बाद मैंने लोगों के पास जाने और मुद्दे पर उनकी राय जानने का फैसला किया और उपराज्यपाल को एक सप्ताह तक विधानसभा भंग नहीं करने के लिए लिखा। उन्होंने साथ ही कहा कि वर्तमान हालात में सरकार बनाना संभव नहीं है और जल्द चुनाव ही एकमात्र रास्ता है। (एजेंसी)