Breaking News
  • मेरे अंदर 'मैं' की भावना नहीं है, अमित शाह से सहयोग और सानिध्‍य मिलता है, बीजेपी एक टीम है: नड्डा
  • पीएम मोदी के साथ काम करने का लंबा अनुभव, उनसे प्रेरणा मिलती है
  • कैप्‍टन बदलने से बैटिंग ऑर्डर नहीं बदलता, कोरोना के साये में बिहार का चुनाव होगा
  • कोरोना के मुद्दे पर भारत की तुलना चीन के साथ नहीं की जा सकती, सीमा विवाद पर कल बातचीत
  • कांग्रेस पार्टी ने Lockdown के दौरान सतही राजनीति का परिचय दिया, पार्टी ने संकट के समय सियासत की
  • मोदी 2.0 के एक साल पूरे होने पर बीजेपी अध्‍यक्ष ZEE NEWS से खास बातचीत की

पूरे परिवार को उम्रकैद से दुखी महिला ने कोर्ट परिसर में दे दी जान

उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले में हैरान कर देने वाली एक घटना में दहेज हत्या के आरोप में पूरे परिवार को उम्रकैद की सजा सुनाये जाने से सदमाग्रस्त एक महिला ने अदालत परिसर में ही जहर खाकर खुदकुशी कर ली।

बदायूं : उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले में हैरान कर देने वाली एक घटना में दहेज हत्या के आरोप में पूरे परिवार को उम्रकैद की सजा सुनाये जाने से सदमाग्रस्त एक महिला ने अदालत परिसर में ही जहर खाकर खुदकुशी कर ली।

पुलिस अधीक्षक (नगर) मान सिंह चौहान ने बताया कि विशेष न्यायाधीश चंद्रपाल सिंह ने 29 मार्च 2011 को भूदेवी नामक महिला की दहेज की खातिर हत्या के आरोप में मृतका के ससुर लटूरी सिंह, सास फूलवती, पति सरोज और देवर महावीर को शुक्रवार को उम्रकैद तथा 10-10 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनायी थी।

उन्होंने बताया कि पूरे परिवार को सजा सुनाये जाने से सदमे में आयी फूलवती (42) ने अदालत परिसर में ही अपने थैले में रखी सल्फास खा ली जिससे उसे उल्टियां होने लगीं। उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां बीती रात इलाज के दौरान उसकी मृत्यु हो गयी।