भारत में अवसरों को लेकर उत्सुक हैं अमेरिकी कंपनियां

बोइंग, आईबीएम और ब्लैकरॉक जैसी बड़ी कंपनियां भारत में अवसरों को लेकर उत्सुक हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बैठक के दौरान इन कंपनियों के प्रमुखों ने भारत के साथ व्यावसायिक संबंधों को और मजबूत करने की इच्छा जताई, वहीं मोदी ने उनसे एक दोस्ताना कारोबारी माहौल का वादा किया।

भारत में अवसरों को लेकर उत्सुक हैं अमेरिकी कंपनियां

न्यूयॉर्क : बोइंग, आईबीएम और ब्लैकरॉक जैसी बड़ी कंपनियां भारत में अवसरों को लेकर उत्सुक हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बैठक के दौरान इन कंपनियों के प्रमुखों ने भारत के साथ व्यावसायिक संबंधों को और मजबूत करने की इच्छा जताई, वहीं मोदी ने उनसे एक दोस्ताना कारोबारी माहौल का वादा किया।

इन कंपनियों ने भारत में स्मार्ट सिटी तथा अन्य पहलों में रुचि दिखाई है। मोदी पांच दिन की अमेरिका यात्रा पर हैं। आज उन्होंने अमेरिका की कई बड़ी कंपनियों..बोइंग, आईबीएम, पेप्सिको, ब्लैकरॉक व गूगल के शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठक की।

रक्षा क्षेत्र की प्रमुख कंपनी बोइंग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी जेम्स मैकनेर्नी ने कहा कि कंपनी भारत के साथ अपने संबंधों को विस्तार देना चाहती है। प्रधानमंत्री के साथ बैठक में आईबीएम की सीईओ वर्जिनिया रोमेटी ने भारत सरकार की स्मार्ट शहर व डिजिटल भारत जैसी पहल में भागीदारी की इच्छा जताई।

भारत में अवसरों को लेकर आशान्वित दुनिया की सबसे बड़ी संपत्ति प्रबंधक ब्लैकरॉक के सीईओ लॉरेंस फ्लिक ने मोदी को बताया कि कंपनी अगले साल भारत में वैश्विक निवेशक सम्मेलन आयोजित करेगी।

मोदी के साथ बैठक के बाद पेप्सिको की सीईओ इंद्रा नूयी ने कहा, उन्होंने सवालों के जोरदार ढंग से जवाब दिए, जो कि भारत को बेहतर बनाने पर केन्द्रित है। ऐसे में हम उनके साथ काम करने को लेकर रोमांचित हैं।

इसी तरह मास्टरकार्ड के भारतीय मूल के सीईओ अजय बंगा ने कहा कि प्रधानमंत्री बातांे को ध्यान से सुनने वाले व्यक्ति हैं। बंगा ने कहा कि उनको भरोसा है कि मोदी योजनाओं को ऐसे ही क्रियान्वित करेंगे जैसा उन्होंने गुजरात में किया। जीई के प्रमुख जेफ इमेल्ट ने प्रधानमंत्री के साथ अपनी बैठक को शानदार बताते हुए कहा कि भारत एक महान देश है तथा वह निवेश के लिए एक अच्छा गंतव्य है।

मोदी ने 11 प्रमुख कंपनियों के मुख्य कार्यकारियों के साथ नाश्ते पर बैठक में कहा कि भारत खुले दिमाग से काम कर रहा है और बदलाव चाहता है, ऐसा बदलाव जो एकतरफा नहीं हो। प्रधानमंत्री की छह अन्य दिग्गज अमेरिकी कंपनियों के कार्यकारियों के साथ भी बैठक हुई। इनमें केकेआर के सीईओ हेनरी क्राविस और गोल्डमैन साक्स के सीईओ लॉयड ब्लैंकफिन शामिल हैं।