Breaking News
  • #ImmunityConclaveOnZee : केंद्रीय आयुष मंत्री श्रीपद नाइक ने कहा कि कोरोना की दवा पर शोध जारी है.
  • #ImmunityConclaveOnZee : श्रीपद नाइक ने कहा - 6-7 सप्ताह में शोध पूरा हो जाएगा.
  • #ImmunityConclaveOnZee : स्वामी रामदेव बोले, '8 बजे नाश्ता, 12 बजे दोपहर का खाना, शाम को 8 बजे तक खाना खा लें'
  • #ImmunityConclaveOnZee : स्वामी रामदेव बोले, 'भगवान ने हमें इंसान बनाकर दुनिया की सबसे बड़ी दौलत दी है'
  • #ImmunityConclaveOnZee : स्वामी रामदेव बोले, '6 घंटे की नींद जरूर पूरी करें और उससे ज्यादा सोएं भी नहीं'

मंडेला के निधन पर बराक ओबामा ने जताया शोक

अपने आप को नेल्सन मंडेला से प्रेरणा लेने वाले लाखों लोगों में से एक बताते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने शुक्रवार को दक्षिण अफ्रीकी रंगभेद विरोध के प्रणेता के निधन पर शोक जताया और कहा कि दुनिया को उनके जैसा नेता दोबारा नहीं मिल सकता।

वाशिंगटन : अपने आप को नेल्सन मंडेला से प्रेरणा लेने वाले लाखों लोगों में से एक बताते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने शुक्रवार को दक्षिण अफ्रीकी रंगभेद विरोध के प्रणेता के निधन पर शोक जताया और कहा कि दुनिया को उनके जैसा नेता दोबारा नहीं मिल सकता।
दक्षिण अफ्रीका के पूर्व राष्ट्रपति मंडेला के निधन की सूचना मिलने के कुछ ही देर बाद ओबामा ने व्हाइट हाउस के संवाददाताओं को बताया, ‘‘मैं उन लाखों लोगों में से एक हूं, जिन्होंने नेल्सन मंडेला के जीवन से प्रेरणा ली है। मेरा पहला राजनैतिक कार्य-ऐसी पहली चीज, जो मैंने कभी किसी नीति, मुद्दे या राजनीति से संबद्ध की हो, वह रंगभेद का विरोध था।’’
ओबामा ने कहा, ‘‘मैं उनकी बातों और उनकी कृतियों का अध्ययन करूंगा। जिस दिन वे जेल से रिहा हुए थे, उस दिन मुझे महसूस हुआ कि इंसान अपनी उम्मीदों के दिशा निर्देशन पर जो कर सकता है, वह डर से नहीं कर सकता। इस दुनिया में रहने वाले बहुत से लोगों की तरह, मैं अपने जीवन को नेल्सन मंडेला की पेश मिसाल के बिना पूरी तरह नहीं सोच सकता। अपने जीवन की अंतिम सांस तक, मैं वह सब करूंगा, जो भी मैं उनसे सीखने के लिए कर सकता हूं।’’
राष्ट्रपति जूमा ने कहा कि मंडेला का निधन हो गया है। हमारे राष्ट्र ने अपना महान सपूत खो दिया। हमारे अवाम ने एक पिता को खो दिया है। बीबीसी ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि मंडेला का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ होगा। जूमा ने अंतिम संस्कार होने तक आज से राष्ट्र के सभी झंडे झुका देने के आदेश जारी किये हैं।
प्यार से मदिबा पुकारे जाने वाले मंडेला हाल के दिनों में फेफेड़ों में संक्रमण सहित स्वास्थ्य संबंधी अनेक समस्याओं से जूझ रहे थे जिसके कारण उन्हें कई बार अस्पतालों में भर्ती कराया गया था।
कल से ही मंडेला के दोस्त और परिजन उनके जोहानिसबर्ग स्थित आवास पर जमा होने लगे थे क्योंकि बताया जा रहा था कि ‘लोकतांत्रिक दक्षिण अफ्रीका के संस्थापक’’ मृत्युशैया पर हैं।
राष्ट्रीय प्रसारक एसएबीसी के साथ एक साक्षात्कार में उनकी बेटी मकाजिवे मंडेला ने बताया कि 95 वर्षीय विश्वनेता ने बीमारियों से लगातार संघर्ष किया। उनके पोते नदाबा मंडेला ने भी कल उनकी खराब सेहत पर मलाल जताया था। मंडेला को जून में प्रीटोरिया हार्ट क्लीनिक में भर्ती कराया गया था जहां उनके फेफड़े में संक्रमण का इलाज किया गया था। (एजेंसी)