close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

एक फेफड़ा था बेकार, मां बनने की थी चाहत, 75 साल की बूढ़ी महिला ने बच्ची को दिया जन्म

मां की उम्र के कारण गर्भ धारण करने के 6.5 माह बाद सी-सेक्शन के जरिए समय पूर्व बच्चे का जन्म कराना पड़ा, क्योंकि मां शारीरिक और स्वास्थ्य के लिहाज से कमजोर थी. बड़ी दिक्कत यह थी कि महिला के पास सिर्फ एक ही फेफड़ा था, 

एक फेफड़ा था बेकार, मां बनने की थी चाहत, 75 साल की बूढ़ी महिला ने बच्ची को दिया जन्म
.(प्रतीकात्मक तस्वीर)

जयपुर: कोटा में एक 75 साल की बूढ़ी महिला ने आईवीएफ के जरिए शनिवार देर शाम एक बच्ची को जन्म दिया. चिकित्सकों ने रविवार को बताया कि बच्ची का वजन मात्र 600 ग्राम है और उसे एक अन्य अस्पताल की नवजात गहन चिकित्सा इकाई में ले जाया गया है, जबकि महिला को कोटा के किंकर हॉस्पिटल में रखा गया है. बाल रोग विशेषज्ञों की एक टीम बच्ची की देखभाल कर रही है. निजी अस्पताल की चिकित्सक अभिलाषा किंकर ने कहा कि महिला ने पहले एक बच्चे को गोद लिया था, लेकिन वह अपना खुद का बच्चा चाहती थी, और इसलिए उसने मां बनने की संभावनाओं के बारे में चिकित्सकों से परामर्श किया था.

उसने आईवीएफ को आजमाना चाहा. मां की उम्र के कारण गर्भ धारण करने के 6.5 माह बाद सी-सेक्शन के जरिए समय पूर्व बच्चे का जन्म कराना पड़ा, क्योंकि मां शारीरिक और स्वास्थ्य के लिहाज से कमजोर थी. बड़ी दिक्कत यह थी कि महिला के पास सिर्फ एक ही फेफड़ा था, जो चिकित्सा टीम के लिए एक चुनौती था.

किंकर ने कहा कि महिला एक ग्रामीण पृष्ठभूमि के साथ एक किसान परिवार से है, और वह खुद का बच्चा पैदा करना चाहती थी, जिससे हम सभी चकित थे.