मजबूरी में शेफ बने बच्चे ने बनाया ऐसा पराठा, सड़क पर बन गया माहौल; देखिए Video
X

मजबूरी में शेफ बने बच्चे ने बनाया ऐसा पराठा, सड़क पर बन गया माहौल; देखिए Video

Trending News and Viral Video: कुछ लोग बच्चे के हुनर से हैरान हैं तो कुछ उसकी मदद करने के लिए भी आगे आने की सोच रहे हैं. भारत में टैलेंट की कमी नहीं है भले ही परिस्थितियों की वजह से बच्चों को उनका वो हक नहीं मिल पाता जिनके वो मासूम असल हकदार है.

मजबूरी में शेफ बने बच्चे ने बनाया ऐसा पराठा, सड़क पर बन गया माहौल; देखिए Video

नई दिल्ली: मजबूरी इंसान से क्या कुछ नहीं करा लेती इसके बावजूद जिंदगी जिंदादिली का नाम है. कुछ दिनों पहले आपने उस बच्चे का वीडियो देखा होगा जिसमें वो 'बसपन का प्यार कहीं भूल नहीं जाना तू' वाला गाना गुनगुना रहा था. उसका वीडियो हिट हुआ तो वह मुंबई पहुंचा और मशहूर रैपर बादशाह के साथ नजर आया. ऐसे ही एक साधारण और गरीब परिवार से आने वाले मासूम बच्चे का वीडियो वायरल हो रहा है. जो अपने खास और अलग अंदाज से पराठे बनाकर लोगों को दिल जीत रहा है.

क्या चमकेगी इस बच्चे की किस्मत?

आपको बता दें कि इस 9 साल के बच्चे का वीडियो इस कदर हिट है कि अब तक करीब 15 लाख बार देखा जा चुका है, लेकिन नेटिज़न्स ने इस बच्चे की तारीफ करने के साथ उसके भविष्य के बारे में अपनी चिंता जताई है. गौरतलब है कि अभी कुछ दिनों पहले, चाइनीज फूड बेचने वाले एक 13 साल के लड़के के वीडियो ने लोगों को प्रभावित किया था. उसकी  प्रतिभा और हुनर को देखकर कुछ लोग उसके परिवार की मदद के लिए भी तैयार हुए थे.

फरीदाबाद के इस 9 साल के लड़के का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है और आप भी उसके पराठे को पलटने की ट्रिक से हैरान हो जाएंगे.

आप भी देखिए वीडियो

हालांकि 23 सेकेंड के इस वीडियो से इस बच्चे के परिवार और उसके बैकग्राउंड के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं मिलती लेकिन फूडी विशाल द्वारा यूट्यूब पर शेयर इस वीडियो में उसे एक बड़े तवे पर पराठा बनाते हुए दिखाया गया है. जो किसी पेशेवर शेफ की तरह बड़ी सफाई और एक्टिव होकर जिस तरह अपने हर पराठे को पलटता है और उन्हें अच्छी तरह से पकाता है. उसकी तारीफ अब चारों ओर हो रही है.

नेटिजंस ने जताई चिंता

नेटिजंस ने लड़के के बारे में अपनी चिंता भी साझा कर रहे हैं खासतौर पर उसके फ्यूचर की चिंता सभी को सता रही है क्योंकि ये उसके पढ़ने लिखने के साथ खेलने और कूदने की उम्र है लेकिन जिस आर्थिक मजबूरी में वो अपने परिवार का हाथ बटा रहा है, उसकी तारीफ हो रही है.

कुछ लोग बच्चे के हुनर से हैरान हैं तो कुछ उसकी मदद करने के लिए भी आगे आने की सोच रहे हैं. भारत में टैलेंट की कमी नहीं है भले ही परिस्थितियों की वजह से बच्चों को उनका वो हक नहीं मिल पाता जिनके वो मासूम असल हकदार है.

 

Trending news