'42 पैसे की कीमत तुम क्या जानो रमेश बाबू', इसके लिए कोर्ट तक आ जाते हैं सुपरमार्केट के मालिक

कोर्ट में केस करने वाले शख्स का कहना है कि 0.02 युआन से उनका कुछ नहीं होगा, लेकिन सुपरमार्केट चेन जिस तरह से बिल को राउंड फिगर करती है यह गलत तरीका है. यह अनैतिक है. 

'42 पैसे की कीमत तुम क्या जानो रमेश बाबू', इसके लिए कोर्ट तक आ जाते हैं सुपरमार्केट के मालिक
फोटो साभार : वीडियो ग्रैब/यूट्यूब(新京报 )

नई दिल्ली: हम कई बार मार्केट जाते हैं, सामान खरीदते हैं. सामान खरीदते वक्त हम अक्सर खुले पैसे न होने के कारण कई बार हम दो चार रुपये दुकानदार से वापस नहीं लेते हैं. हम सोचते हैं कि दुकानदार उन एक या दो रुपये का क्या कर लेगा. लेकिन चीन में चंद पैसों के लिए एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसने सोशल मीडिया पर धमाल मचा दिया है. चीन के एक सुपरमार्केट ने एक शख्स को 0.04 युआन (करीब 42 पैसे) कम दिए तो उसने सुपरमार्केट पर मुकदमा ठोक दिया है.

शख्स ने खरीदा था 569 रुपये का सामान
दरअसल, चीन में झियो नाम के शख्स ने सुपरमार्केट से 54.76 युआन यानि की करीब 569 रुपए का सामान खरीदा था. सामान खरीदने के बाद दुकानदार को शख्स को 0.24 युआन लौटान थे. लेकिन उसे 0.22 युआन ही दिए गए. 0.02 युआन यानि की 42 पैसे कम मिलने से नाराज शख्स ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया. 

कोर्ट में केस करने के बाद शख्स ने कही ये बात
कोर्ट में केस करने वाले शख्स का कहना है कि 0.02 युआन से उनका कुछ नहीं होगा, लेकिन सुपरमार्केट चेन जिस तरह से बिल को राउंड फिगर करती है यह गलत तरीका है. यह अनैतिक है. 

गलत तो गलत है...
शख्स ने कहा कि वह सुपरमार्केट में केस करके सबका ध्यान इस ओर आकर्षित करना चाहते हैं कि इतने कम पैसों से हमारा नहीं, लेकिन सुपरमार्केट का कितना फायदा हो सकता है. जानकारी के मुताबिक, सबूत के तौर पर उनके वकील ने कोर्ट में यह बिल पेश किया. सुपरमार्केट चेन के पास और कोई रास्‍ता नहीं था. उन्‍होंने कोर्ट में अपनी गलती स्‍वीकार की और झियो के साथ ही आम जनता से माफी भी मांगी. 

सोशल मीडिया पर शेयर हो रही है स्टोरी
एक शख्स का 42 पैसों के लिए कोर्ट जाने वाले इस कहानी को सोशल मीडिया पर काफी शेयर की जा रही है. इस स्टोरी को लोग जागरूकता के लिहाज से देख रहे हैं.