13 साल बाद आजाद हुआ सर्कस का शेर, फिर किया ये इमोशनल काम

किसी की गुलामी और कैद में जिंदगी जीने से बुरा कुछ नहीं होता. चाहें वह मनुष्य हो या पशु हो, स्वतंत्रता सभी के लिए मायने रखती है.

13 साल बाद आजाद हुआ सर्कस का शेर, फिर किया ये इमोशनल काम
प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली: किसी की गुलामी और कैद में जिंदगी जीने से बुरा कुछ नहीं होता. चाहें वह मनुष्य हो या पशु हो, स्वतंत्रता सभी के लिए मायने रखती है. सोशल मीडिया पर भी एक ऐसा ही वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें 13 साल की कैद के बाद पहली बार मिली आजादी का जश्न मना रहे शेर को देखा जा सकता है. 

जिस तरह शेर मैदान में हरी घास और मिट्टी को महसूस कर रहा है, उसे देखकर कई सोशल मीडिया यूजर्स भावुक हो गए. इस 27 सेकेंड के वीडियो को एक आईएफएस अधिकारी सुशांत नंदा ने ट्विटर पर साझा किया है.

वीडियो के कैप्शन में उन्होंने लिखा है, "सर्कस से छुड़ाए जाने के 13 साल बाद पहली बार मिट्टी को महससू करते शेर की भावना." वीडियो में देखा जा सकता है कि शेर अपने पंजे को मिट्टी में रगड़ रहा है और उसे यह अहसास होता है कि आखिरकार वह आजाद हो चुका है और वह अपनी आजादी का आनंद ले रहा है.

अपनी जिंदगी का ज्यादातर हिस्सा पिंजड़े में बिताने वाले सर्कस के शेर का यह वीडियो इंटरनेट पर वायरल हो गया है. यूजर्स इस वीडियो पर प्रतिक्रिया देने से नहीं चुक रहे हैं. एक यूजर ने लिखा, "विकास क्यों खराब चीज है, मनुष्य इसके उदाहरण हैं."

वहीं अन्य ने लिखा, "बस उसके आनंद को देखो" वहीं एक ने लिखा, "हृदय विदारक. सर्कस और जू. दिल तोड़ने वाला. मनुष्य कितना स्वार्थी हो गया है."