close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

डॉक्टर्स भी रह गए दंग, जब मरीज के पेट से निकले 8 स्टील के चम्मच, 1 नुकीला चाकू, 2 टूथ ब्रश और...

शहर के लाल बहादुर शास्त्री सरकारी मेडिकल एवं अस्पताल में एक शख्स के पेट से ऑपरेशन के बाद 8 स्टील के चम्मच, एक नुकीला चाकू, दो टूथ ब्रश, दो पेचकश और एक दरवाजे की कुंडी निकली है. इस केस को डॉक्टर्स भी अपने आप में दुर्लभ केस मान रहे हैं.

डॉक्टर्स भी रह गए दंग, जब मरीज के पेट से निकले 8 स्टील के चम्मच, 1 नुकीला चाकू, 2 टूथ ब्रश और...
पीड़ित पिछले 20 सालों से मानसिक रोगी है. डॉक्टर्स ने बताया कि अब वह ठीक है और अभी अस्पताल में ही भर्ती है.

मंडी: हिमाचल प्रदेश से एक घटना सामने आई है, जिसने लोगों को सोचने पर मजबूर कर दिया है. मंडी से आई इस खबर पर लोगों को यकीन करना मुश्किल होगा, लेकिन ये सच है. एक शख्स के पेट से ऑपरेशन के बाद 8 स्टील के चम्मच, एक नुकीला चाकू, दो टूथ ब्रश, दो पेचकश और एक दरवाजे की कुंडी निकली है. इस केस के सामने आने के बाद डॉक्टर्स भी हैरान हैं.

जानकारी के मुताबिक, शहर के लाल बहादुर शास्त्री सरकारी मेडिकल एवं अस्पताल में एक शख्स को पिछले दिनों गंभीर हालत में भर्ती किया गया. अस्पताल में भर्ती के दौरान उसे पेट में असहाय दर्द हो रहा था और दर्द से कराह रहा था. डॉक्टरों ने उसका ऑपरेशन किया, तो इसके पेट से 8 स्टील के चम्मच, एक नुकीला चाकू, दो टूथ ब्रश, दो पेचकश और एक दरवाजे की कुंडी निकली है. इस केस को डॉक्टर्स भी अपने आप में दुर्लभ केस मान रहे हैं.

Himachal Pradesh: Doctors removed 8 spoons, 2 screwdrivers, 2 toothbrushes and 1 kitchen knife from the stomach of a man

जिस शख्स के पेट से ये सारा सामान निकला इसका नाम कर्ण सेन बताया जा रहा है. कर्ण पिछले 20 सालों से मानसिक तौर पर परेशान चल रहा था और वह लगातार दवाईयों को सेवन भी कर रहा था. कर्ण सेन के भाई मुनीश ने बताया कि उसके भाई का इलाज विभिन्न अस्पतालों में हुआ. तीन दिन पहले कर्ण सेन सुंदरनगर के पुराना बाजार स्थित हेल्थ केयर क्लीनिक में गया था. मरीज ने इलाज के दौरान बताया कि उसके पेट पर एक पिंपल हुआ है, मरीज को चैकअप करने पर मालूम हुआ कि यह एक नुकीला चाकू है. प्रारंभिक उपचार के बाद उसे मेडिकल कॉलेज नेरचौक रैफर कर दिया.

वहीं, मेडिकल कॉलेज पहुंचते ही मौजूद सर्जन ने मरीज कर्ण सेन का एक्स-रे करवाने के लिए कहा और जैसे ही रिपोर्ट देखने के बाद मरीज के पेट के अंदर कई चीजों की मौजूदगी पाई गई, तो डॉक्टर के भी होश उड़ गए. उसी समय कर्ण का ऑपरेशन शुरू कर दिया गया. मेडीकल कॉलेज के सर्जन डॉ. निखिल सोनी, डॉ. सूरज भारद्वाज और डॉ. रनेश की टीम ने चार घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद कर्ण के पेट का सफल ऑपरेशन कर 8 स्टील के चमच, एक नुकीला चाकू, दो टूथ ब्रश, दो पेंचकस और एक दरवाजे की कुंडी निकालने में सफलता प्राप्त की. अब मरीज कर्ण सेन की हालत खतरे से बाहर है.

लाइव टीवी देखें

डॉक्टर निखिल के अनुसार, इस तरह की व्यवहार एक खास बीमारी की वजह से होता है. जब आदमी न खाने वाली चीजों को भी खाना खाने की चीज समझ कर खाने लगता हैं. डॉक्टर निखिल ने बताया की इस तरह का यह पहला मामला है. वहीं, डॉक्टर ने बताया कि दिमागी रूप से स्वस्थ इंसान इस तरह का काम नहीं कर सकता है.