close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कुत्तों के प्यार में परिवार पहुंचा हाई कोर्ट, बोले- उन्हें हमसे अलग मत करिए

परिवार न सिर्फ प्रशासन के खिलाफ खड़ा हो गया, बल्कि प्रशासन के खिलाफ रतलाम न्यायालय से न्याय नहीं मिलने पर इंदौर हाईकोर्ट तक मामला ले गया.

कुत्तों के प्यार में परिवार पहुंचा हाई कोर्ट, बोले- उन्हें हमसे अलग मत करिए
दशकों से कुत्तों की देखभाल कर रहा है गुप्ता परिवार

रतलामः मध्यप्रदेश के रतलाम में अजब प्रेम की गजब कहानी सामने आई है. रतलाम का यह मामला अनोखा ही नहीं बल्कि जीव प्रेम की  बड़ी मिसाल है. रतलाम के एक परिवार को गली के कुत्तों से इतना लगाव हो गया कि जब कुछ लोगों ने उन कुत्तों को मोहल्ले से हटाने की शिकायत प्रशासन से की, तो परिवार न सिर्फ प्रशासन के खिलाफ खड़ा हो गया, बल्कि प्रशासन के खिलाफ रतलाम न्यायालय से न्याय नहीं मिलने पर इंदौर हाईकोर्ट तक मामला ले गया. हाईकोर्ट में मामला अभी लंबित है, लेकिन अजब प्रेम की गजब कहानी जो सामने आई है वह हर किसी को सोचने पर मजबूर कर देगी, कि क्या गली के कुत्तों से इतना लगाव हो सकता है? 

दरअसल, रतलाम के देवरा देवनारायण कॉलोनी निवासी रिटायर्ड ईश्वरलाल गुप्ता और आशा गुप्ता अपने जीवन के इस पड़ाव में जीव प्रेम से प्रेरित होकर उनकी सेवा कर रहे हैं. ईश्वरलाल गुप्ता आरपीएफ से रिटायर्ड है वही पत्नी आशा गुप्ता मेडिकल विभाग से रिटायर्ड हैं. दोनो बुजुर्ग दंपत्ति को जानवरों से काफी लगाव है और उनकी खाने पिलाने से लेकर इलाज तक कि सेवा करते हैं.

वायरल VIDEO: गाय ने लड़कों के साथ खेली फुटबॉल, वीडियो देखकर हो जाएंगे लोटपोट!

दोनो दंपत्ति गली के कुत्तों की पीढ़ी दर पीढ़ी 15 साल से देखभाल कर रहे हैं. ना सिर्फ खाना बल्कि उनके उचित उपचार के लिए रतलाम के अलावा महू तक जाते हैं. इतना ही नहीं गुप्ता परिवार के पास पहले मर चुके कुत्तों की तस्वीरें भी हैं, जिन्हें गुप्ता परिवार ने अपने पास संभाल कर रखा है और इन तस्वीरों को देख परिवार की आंखे भी भर आती हैं, क्योंकि इन कुत्तों से इस परिवार को ऐसा लगाव हो गया कि अब ये इस परिवार के सदस्य बन गए हैं. गुप्ता दंपत्ति ने इन कुत्तों के रहने खाने व इनके लिए साफ सफाई की भी व्यवस्था की हुई है.

मध्य प्रदेशः बिजली कटौती को लेकर वायरल हुआ ऑडियो, कांग्रेस-बीजेपी में मचा घमासान

In the love of dogs family reached to the High Court

लेकिन, 3 साल पहले 2016 में कुछ लोगों ने इन कुत्तों को लेकर प्रशासन से शिकायत कर दी और इन्हें हटाने की मांग की. तात्कालीन एसडीएम ने नगर निगम से जांच करवाई और एसडीएम ने इन कुत्तों को हटाने का नोटिस गुप्ता परिवार को दे दिया, जिसके बाद ईश्वरलाल और आशा गुप्ता ने रतलाम न्यायालय में कुत्तों को अपने पास रखने की गुहार लगाई, लेकिन रतलाम न्यायलय ने भी गुप्ता परिवार की अपील नामंजूर कर दी. रतलाम के दंपत्ति जीव प्रेमी ने हार नहीं मानी और कुत्तों के लिए गुप्ता परिवार ने अब इंदौर उच्च न्यायालय में गुहार लगाई है.

OMG... एक ऐसा पुल, जहां से टर्न होते ही दूसरी दुनिया में चली जाती हैं गाड़ियां, VIDEO VIRAL

फरियादी जीव प्रेमी आशा गुप्ता ने बताया कि, इस बीच पड़ोसी शिकायतकर्ता ने पिछले आदेश को लेकर एक शिकायत औद्योगिक थाना पुलिस से कर दी, कि एसडीएम और रतलाम न्यायालय के आदेश का पालन करवाकर कुत्तों को मोहल्ले से हटवाया जाए. पुलिस ने आदेश की तामील के लिए गुप्ता परिवार के घर जाने लगी, ऐसे में अब आशा गुप्ता ने रतलाम एसपी को मामले से अवगत करवाकर एक आवेदन दिया है, जिसमें पुलिस को जानकारी दी गई कि पिछले आदेश को लेकर वह उच्च न्यायालय में अपील कर चुकी है और अब मामला उच्च न्यायालय में लंबित है.