VIDEO: सबरीमाला की पैदल यात्रा पर निकला बेजुबान 'भक्त', 18 दिनों में चला 480 किलोमीटर

श्रद्धालुओं ने बीते 31 अक्टूबर को आंध्र प्रदेश के तिरुमाला से यात्रा की शुरुआत की थी. 17 नवंबर को वह 480 किलोमीटर की यात्रा पूरी कर चिकमंगलुरु के कोट्टीगहरा तक पहुंचे थे. 

VIDEO: सबरीमाला की पैदल यात्रा पर निकला बेजुबान 'भक्त', 18 दिनों में चला 480 किलोमीटर
कुत्ता 31 अक्टूबर से श्रद्धालुओं के साथ लगातार पैदल चल रहा है. (फोटो साभार ANI)

नई दिल्ली: केरल के सबरीमाला मंदिर (Sabrimala Temple) में महिलाओं के प्रवेश को लेकर चल रहे विवाद के बीच एक अनोखा मामला सामने आया है. दरअसल, भगवान अयप्पा के दर्शन के लिए जा रहे 13 लोगों के एक समूह में एक कुत्ता भी लगातार 18 दिनों से पैदल चल रहा है. जानकारी के मुताबिक, कर्नाटक से केरल स्थित सबरीमाला के दर्शन के लिए पैदल यात्रा पर निकली 13 श्रद्धालुओं की इस टोली ने रविवार (17 नवंबर) तक 480 किलोमीटर की यात्रा पूरी कर ली थी. यह कुत्ता भी लगातार उनके साथ पैदल चल रहा है. समाचार एजेंसी एएनआई ने इसका वीडियो भी शेयर किया है.  

आपको बता दें कि श्रद्धालुओं ने बीते 31 अक्टूबर को आंध्र प्रदेश के तिरुमाला से यात्रा की शुरुआत की थी. 17 नवंबर को वह 480 किलोमीटर की यात्रा पूरी कर चिकमंगलुरु के कोट्टीगहरा तक पहुंचे थे. 

भगवान अयप्पा के भक्तों का कहना है कि यात्रा की शुरुआत से ही यह कुत्ता हमारे साथ चल रहा है. पहले तो हमने इसपर ध्यान नहीं दिया. लेकिन बाद में हमें समझ आया कि यह हमारे साथ-साथ ही चल रहा है. इसके बाद हम अपने लिए बनाए खाने में से इसे भी खिलाते हैं. यह भी हमारी तरह ही भगवान अयप्पा का भक्त मालूम होता है. उन्होंने कहा कि हम हर साल सबरीमाला यात्रा पर जाते हैं लेकिन यह अपनेआप में पहला और अनोखा मामला है.  

आपकों बता दें कि शनिवार शाम से केरल के चर्चित सबरीमाला मंदिर के कपाट दर्शन के लिए खोल दिए गए. इस दौरान मंदिर में महिलाओं के प्रवेश को लेकर केरल सरकार का यू-टर्न नजर आया. केरल सरकार ने स्पष्ट कर दिया है कि अगर दर्शन के लिए महिलाएं आती हैं तो सरकार उन्हें सुरक्षा नहीं दे पाएगी. 

आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने बीते दिनों पुनर्विचार याचिका पर सुनवाई के दौरान कहा था कि मंदिर में प्रवेश की अनुमति देने वाले 28 सितंबर, 2018 के उसके आदेश पर स्थगन नहीं है. इसके बाद भी शनिवार को जब महिलाएं मंदिर में दर्शन के लिए पहुंचीं तो उन्हें दर्शन से रोक दिया गया. 

ये वीडियो भी देखें: