close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जयपुर: 3 साल से भगवान गणेश वेटिंग लिस्ट खत्म होने का कर रहे इंतजार, जानिए पूरा मामला

भगवान गणेश को विध्नहर्ता माना जाता है. लेकिन प्रथम आराध्य माने जाने वाले गणेश भगवान लंबे समय से वेटिंग लिस्ट में अटके हुए हैं.

जयपुर: 3 साल से भगवान गणेश वेटिंग लिस्ट खत्म होने का कर रहे इंतजार, जानिए पूरा मामला
देखना होगा कि भगवान गणेश की वेटिंग अवधि कब खत्म होती है. (फाइल फोटो)

जयपुर: कहते किसी भी शुभ काम के लिए भगवान गणेश(Lord Ganesha) की पूजा की जाती है. लेकिन राजस्थान(Rajasthan) के स्वास्थ्य भवन परिसर में गणेश प्रतिमा(Idol) पिछले तीन सालों से प्लास्टिक के बोरे में बंद है. वेटिंग रूम(waiting Room) में भगवान गणेश को अब भी बोरे से बाहर निकलने का इंतजार है. 

सबके विध्नहर्ता कहलाने वाले भगवान गणेश आखिर बोरे में बंद क्यों हैं? यह सवाल आपके मन में भी कौंध रहा होगा. दरअसल पिछली बीजेपी सरकार में मंत्री राजेन्द्र राठौड़(Rajendra Rathore) ने गणेश जी की स्थापना के लिए स्वास्थ्य भवन स्थित मंत्रालय परिसर में मंदिर बनवाया था.

लेकिन अचानक राजेन्द्र राठौड़ से स्वास्थ्य मंत्री(Health Minister) पद की जिम्मेदारी छीनकर दूसरे विभाग की जिम्मेदारी दे दी गई थी. उनके बाद कालीचरण सराफ को स्वास्थ्य मंत्री बनाया गया. स्वास्थ्य मंत्री रहते हुए सराफ ने अपना कार्यकाल तो पूरा कर लिया. लेकिन भगवान गणेश की सुध नहीं ली. तब लेकर आजत भगवान गणेश की प्रतिमा उसी हाल में बोरे में बंद एक कोने में पड़ी है. 

दुर्भाग्य की बात ये है कि भगवान गणेश के लिए बनाये गये मंदिर के पास ही वेटिंग हॉल, गैलरी का उद्घाटन हो गया. लेकिन भगवान गणेश अब भी इंतजार में हैं. कि उनका नंबर कब आएगा. 

पिछली सरकार में दो मंत्री ने भगवान गणेश को मंदिर में स्थापित करने की जहमत नहीं उठाई. अब कांग्रेस सरकार में स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा से ही उम्मीद है. कि मंत्री जी कोने में बोरे में बंद भगवान गणेश की सुध लेंगे और उनको मंदिर में स्थापित करेंगे. ऐसे में देखना होगा कि भगवान गणेश की वेटिंग अवधि कब खत्म होती है.

(Muzammil, News Desk)