मां ने अपने बच्चों का पेट भरने के लिए किया ऐसा काम, भावुक कर देगी घटना

महिला ने अपने तीन बच्चों का पेट भरने के लिए सिर मुंडवा लिया और अपने बाल मात्र 150 रुपए में बेच दिए. 

मां ने अपने बच्चों का पेट भरने के लिए किया ऐसा काम, भावुक कर देगी घटना

रितेश रंजन, चेन्नई: कर्ज के बोझ के तले दबे होने के कारण पति ने आत्महत्या कर जिंदगी से छुटकारा तो पा लिया पर उसके जाने के बाद उसके परिवार के लिए जिंदगी पहाड़ जैसी हो गई. पति की मौत के बाद दाने-दाने को मोहताज 31 वर्षीय महिला ने अपने तीन बच्चों का पेट भरने के लिए सिर मुंडवा लिया और अपने बाल मात्र 150 रुपए में बेच दिए. यह घटना तमिलनाडु के सेलम की है.

गौरतलब है कि यह घटना तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलनीसामी के गृह क्षेत्र की है. घटना के सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद कई लोग इस महिला की मदद के लिए आगे आ रहे हैं. प्रेमा नाम की महिला और उसका पति सेल्वम एक ईंट भट्टे की फैक्ट्रि में काम करते थे. सेल्वम ने अपना खुद का व्यवसाय शुरू करने के लिए कुछ लोगों से 2.5 लाख रुपए उधार लिए थे.

ये भी पढ़ें: 1 साल की बच्ची का लिवर ट्रांसप्लांट, खून पहुंचाने के लिए लगाई गईं गाय की नसें

व्यवसाय में घाटा होने के कारण कर्जदार उसके पिछे पड़ गए और उसने इस परेशानी से छुटकारा पाने के लिए आत्महत्या कर ली. पति की मौत के बाद परिवार की जिम्मेदारी प्रेमा के सिर आ चुकी थी. कुछ दिनों तक परिवार के लोगों ने उसकी मदद की पर ऐसा कितने दिन चलता.

प्रेमा के पास इतने पैसे भी नहीं थे किए वह एक दिन भी अपने बच्चों का पेट भर सके. उसे कहीं से इस बात की जानकारी मिली कि बाल बेचने से पैसे मिलते हैं और उसने अपने बाल बेचने का मन बना लिया.

ये भी पढ़ें: हैंडपंप से निकला खौलता हुआ पानी, 2 लोग झुलसे, मामला जानकर हो जाएंगे हैरान

उसकी आपबिती मीडिया में वायरल होने के बाद कई लोग उसकी मदद के लिए आगे आए और अब उसके पास रोजगार भी है और पैसे भी जिससे की वह अपने बच्चों का भरनपोषण कर सके. जिला कलेक्टर, सेलम, एसए रमन ने कहा कि इस घटना के बारे में जब जिला प्रशासन को जानकारी मिली तो हमने तत्काल प्रभाव से प्रेमा को विधवा पेंशन जारी करने का आदेश दिया.

साथ ही यह भी बताया कि राज्य सरकार की ओर से उसे आविन मिल्क पार्लर स्टॉल भी शहर में मुहैया कराया जाएगा. इस बारे में मुख्यमंत्री को भी सूचना दे दी गई है और मुख्यमंत्री स्वयं उन्हें इसके कागजात सौपेंगे.