close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पेड़ से 'मोटू-पतलू' बोल रहे हैं SAVE TRESS, एक क्लिक में पढ़ें आखिर क्या है माजरा

लखनऊ के गोमती नगर के राजीव गांधी वार्ड के पार्षद अरुण तिवारी का कहना है कि इस अहम योगदान की मुख्य मकसद वार्ड को स्वच्छ और साफ रखने के साथ लोगों को इन पेड़ों की उपलब्धियों को बताना है.

पेड़ से 'मोटू-पतलू' बोल रहे हैं SAVE TRESS, एक क्लिक में पढ़ें आखिर क्या है माजरा
पार्षद का कहना है कि रंगों से पेड़ों को नुकसान नहीं होगा, इससे उन्हें नया जीवन मिलेगा.

लखनऊ: पेड़ों (Tress) के बिना जीवन संभव नहीं है. सुंदर हरे-भरे पेड़ों को बचाने और ज्यादा से ज्यादा पेड़ों को लगाने के लिए समय-समय के अभियान चलाएं जाते हैं. पर्यावरण (Environment) को बचाने में इनका अहम योगदान होता है. इसलिए लखनऊ (Lucknow) में इन दिनों इनको बचाने के लिए एक अनूठी पहल दिखाई दी. लखनऊ के राजीव गांधी वार्ड के एक पार्षद अरुण तिवारी इन दिनों सौंदर्यीकरण अभियान में लगे हुए हैं. 

लखनऊ के गोमती नगर के राजीव गांधी वार्ड के पार्षद अरुण तिवारी का कहना है कि इस अहम योगदान की मुख्य मकसद वार्ड को स्वच्छ और साफ रखने के साथ लोगों को इन पेड़ों की उपलब्धियों को बताना है. उनका कहना है कि हाल ही में उनके वार्ड ने स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 में तीसरा स्थान हासिल किया. इस कार्य के जरिए वह लोगों तक वार्ड को पहले स्थान हासिल कराने के लिए प्रेरित करना भी है. 

पार्षद अरुण तिवारी ने कहा कि हमने पहला स्थान हासिल करने के लिए कुछ और करने का फैसला किया. हमने स्थानीय लोगों के साथ बैठकर फैसला किया कि पेड़ों को चित्रित किया जाना चाहिए और लखनऊ की संस्कृति को दर्शाने वाली स्ट्रीट आर्ट होनी चाहिए. हम सड़क कला पर लोगों के सुझावों पर काम कर रहे हैं.

कलाकारों ने कार्टून कैरेक्टर, योगा पोज और सेव ट्रीज जैसे सामाजिक संदेश दिए है. पार्षद ने बताया कि हमने जिन रंगों का इस्तेमाल किया जा रहा है, उससे पेड़ों को कोई नुकसान नहीं होगा और उनके जीवन को गति मिलेगी.

लाइव टीवी देखें

उन्होंने कहा कि अगर हम पेड़ों पर कीट नियंत्रण करते हैं तो उनके जीवन को बढ़ाया जा सकता है. रंगों से पेड़ों को नुकसान नहीं होगा, इससे उन्हें नया जीवन मिलेगा. इस काम के लिए वह पार्षद निधि से धन का उपयोग कर रहे हैं. उन्होंने बताया कि वह 115-मीटर क्षेत्र और गोल चौराहा को मॉडल के रूप में विकसित करने की योजना बना रहे हैं.