ज़ी एक्सक्लूसिव: Afghanistan जाकर ISIS आतंकी बनीं 24 पाकिस्तानी महिलाएं, ISI की नई साजिश का खुलासा

अफगानिस्तान (Afghanistan) में मौजूद पकिस्तान (Pakistan) एंबेसी की एक टीम ने काबुल (Kabul) की जेल में चोरी छुपे 30 मई को एक दौरा किया था. वहां उस दल ने ISIS से जुड़ी महिलाओं से मुलाकात की. इनकी रिपोर्ट के मुताबिक वहां 30 पाकिस्तानी महिलाएं और उनके 60 बच्चे मौजूद हैं.

ज़ी एक्सक्लूसिव: Afghanistan जाकर ISIS आतंकी बनीं 24 पाकिस्तानी महिलाएं, ISI की नई साजिश का खुलासा
प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली: पाकिस्तान (Pakistan) की खुफिया एजेंसी 'ISI' अफगानिस्तान (Afghanistan) में तालिबान (Taliban), जैश ए मोहम्मद और ISIS के आतंकियों की मदद से बड़े आतंकी हमलों को अंजाम देने में लगी हुई है. अफगानिस्तान के कई हमलों में ISI के शामिल होने के सबूत पहले भी मिल चुके हैं. 

इस बीच ऐसे ताजा और धमाकेदार खुलासे की बात करें तो ISI की मदद से पाकिस्तान से अफगानिस्तान में जाकर ISIS की आतंकी बनी 24 महिला आतंकियों की लिस्ट ज़ी न्यूज़ (Zee News) के पास मौजूद है जो अफगानिस्तान की काबुल जेल में बंद है. इन महिलाओं के बारे में अफगानिस्तान की एजेंसियों का कहना है कि ये सभी आतंकी हमलों में शामिल पाई गई हैं.

ISI कैंप में 'टेरर फेमिली प्लानिंग'

इस मामले से जुड़े जानकरों के मुताबिक पाक-अफगान सीमा पर अफगानिस्तान के इलाके में ISI ने तालिबानी, जैश और ISIS आतंकियों के कई टेरर कैंप बनाये हैं जिनमें बड़ी संख्या में आतंकियों को हमले की ट्रेनिंग दी जाती है और यहां से ट्रेनिंग पा चुके आतंकी जहां अफगानिस्तान में हमले करते हैं.

वहीं कुछ आतंकियो को हमला करने के लिए भारत के कश्मीर (Kashmir) भेजा जाता है. इन्हें भारतीय सुरक्षा बलों पर हमले करने के लिए कहा जाता है. इनमें से कई आतंकी सपरिवार यानी अपने पूरे परिवार के साथ आकर टेरर कैंपो में शामिल होते हैं.

ये भी पढ़ें- Wuhan Lab के बाद अब Nuclear Plant में गड़बड़ी कर रहा China, सतर्क हुआ US

टारगेट तय करने से लेकर अंजाम देने तक ISI की भूमिका

अफगानिस्तान  मामलों पर नजर रखने वालों के मुताबिक अफगानिस्तान सुरक्षा बलों की कार्रवाई में पकड़े गए कुछ पाकिस्तानी मूल के ISIS आतंकियों ने खुलासा किया है कि उन्हें ISI की तरफ से ये निर्देश दिये जाते हैं कि कब और कहां हमले करने हैं. वहीं उनका ये भी दावा किया है कि ISI ही उन्हें हथियार मुहैया कराती है.

पाकिस्तान को ब्लैक लिस्टेड होने का डर

ज़ी मीडिया को मिली जानकारी के मुताबिक जिन 24 महिलाओं पर ISIS में शामिल होकर आतंकी साजिश में शामिल होने का आरोप है वो अफगानिस्तान की जेल में बंद है. वहां उनके 46 बच्चे भी हैं. पाकिस्तान को डर है कि अगर Financial Action Task Force (FATF) की मीटिंग से पहले इस केस में ISI के शामिल होने की बात दुनिया के सामने आ गई तो उसकी जमकर किरकिरी होगी. इस सूरत में पाकिस्तान को ब्लैक लिस्ट भी किया जा सकता है.

ये भी पढे़ं- G-7 के नेता टीका, चीन और बहुराष्ट्रीय कंपनियों के न्यूनतम कर को लेकर सहमत

15 दिन पहले मिले सबूत

अफगानिस्तान में मौजूद पकिस्तान एंबेसी की एक टीम ने काबुल की जेल में चोरी छुपे इस साल 30 मई को काबुल जेल का दौरा कर इन ISIS से जुड़ी महिलाओं से मुलाकात की. इनकी रिपोर्ट के मुताबिक अफगान जेल में फिलहाल पाकिस्तानी मूल की कुल 30 महिलाएं और उनके 60 बच्चे बंद हैं.

इन महिला आतंकियों के परिवार का सरकार पर उन्हें वापस देश लाने का दवाब बढ़ रहा है. इसलिए पाकिस्तान सरकार ने अफगानिस्तान में मौजूद अपने दूतावास के अधिकारियों से कहा है कि इनके नाम और पते की जानकारी जुटाएं ताकि वेरिफिकेशन के बाद उनकी वापसी की प्रक्रिया शुरू कराई जा सके.

ये भी पढ़ें- Space Trip पर जा रहे Jeff Bezos ने नीलाम की बगल वाली सीट, यूं लगी 2 अरब की बोली

जेल में बंद महिलाओं की एक्सक्लूसिव सूची

आइए हम आपको बताते है कि उन 24 पाकिस्तानी महिलाओं के क्या नाम है जो अफगानिस्तान की काबुल जेल में बंद है.

1-फातिमा जिया- लाहौर
2-आतिका- कराची
3-सिदरा- लाहौर
4-हसीना- क्वेटा
5-रद्दा- नरोवल
6-हजेरा- खैबर
7-तैय्यबा- Orakzai
8-खदीजा- दीर, KPK
9-जैनाब-दीर, KPK
10-रवाज़ा- Orakzai
11-शाहिदा- Orakzai
12-हायध- Orakzai
13-शकीला-KPK
14-मरयम-KPK
15-अम्माना रज़ाक- जलालपुर
16-हजीरा- Orakzai
17-शहनाज़- Orakzai
18-एखतीरा- Orakzai
19-अदीबा- जलालपुर
20-आयेशा- Orakzai
21-ग़ुलाब- Orakzai
22-ज़मीना- Orakzai
23-हिफ्सा- लाहौर
24-जमानखिला- Orakzai

LIVE TV 
 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.