चीन के झूठ का पर्दाफाश, इस शहर में कम होने के बजाय बढ़ रही हिरासत शिविरों की संख्‍या

यह रिपोर्ट उन सबूतों पर आधारित है कि चीन ने अस्थायी सार्वजनिक इमारतों में वीगर और अन्य मुस्लिम अल्पसंख्यकों को नजरबंद करने की नीति में बदलाव किया है और उन्हें स्थायी सामूहिक हिरासत केन्द्रों में रखा जा रहा है.

चीन के झूठ का पर्दाफाश, इस शहर में कम होने के बजाय बढ़ रही हिरासत शिविरों की संख्‍या
फ़ाइल फोटो

कैनबरा: ऑस्ट्रेलिया के एक थिंक टैंक का मानना है कि चीन शिनजियांग में गोपनीय हिरासत केन्द्रों की संख्या बढ़ा रहा है. ऑस्ट्रेलियाई सामरिक नीति संस्थान (एएसपीआई) ने उपग्रह तस्वीरों और आधिकारिक निर्माण निविदा दस्तावेजों के माध्यम से पता लगाया कि शिनजियांग वीगर स्वायत्त क्षेत्र में 380 से अधिक संदिग्ध हिरासत केन्द्र हैं. इनमें पुनर्शिक्षण शिविर, हिरासत केन्द्र और जेल शामिल हैं, इनका निर्माण हाल ही में किया गया है अथवा 2017 के बाद से इनमें विस्तार हुआ है.

यह रिपोर्ट उन सबूतों पर आधारित है कि चीन ने अस्थायी सार्वजनिक इमारतों में वीगर और अन्य मुस्लिम अल्पसंख्यकों को नजरबंद करने की नीति में बदलाव किया है और उन्हें स्थायी सामूहिक हिरासत केन्द्रों में रखा जा रहा है. संस्थान के शोधकर्ता नाथन रुसर ने एक रिपोर्ट में लिखा, ‘उपलब्ध साक्ष्य बताते हैं कि शिनजियांग के ‘पुनर्शिक्षण’ नेटवर्क में बंद कई न्यायेतर बंदियों को अब औपचारिक रूप से आरोपित किया जा रहा है और उन्हें उच्च सुरक्षा वाले केंद्रों में बंद किया गया है.

ये भी पढ़ें- सीमा विवाद को हल करने की दिशा में एक और कदम, कमांडर स्तरीय बैठक जल्द: MEA

इनमें नव-निर्मित अथवा विस्तारित जेल भी शामिल है, या इन्हें ज़बरदस्ती मजदूरी करने के लिए कारखाना परिसरों में रखा गया है.’ यह रिपोर्ट एक दिन पहले जारी हुयी है. रिपोर्ट में कहा गया है कि जुलाई 2020 तक कम से कम 61 हिरासत केंद्रों में नए निर्माण किए गए हैं या उनका विस्तार किया गया है.