India पर हमले के लिए China ने Cyber Attack को बनाया नया हथियार, इन संस्थानों को भेदने की कोशिश

दुनिया में बढ़ते तकनीकी विकास ने अब देशों के बीच जंग के मैदान को बदलकर रख दिया है. अमेरिकी फर्म ने किया खुलासा आईटी विशेषज्ञों के मुताबिक इस जंग में देशों के हथियार मालवेयर हैं.

India पर हमले के लिए China ने Cyber Attack को बनाया नया हथियार, इन संस्थानों को भेदने की कोशिश
प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली: दुनिया में बढ़ते तकनीकी विकास ने अब देशों के बीच जंग के मैदान को बदलकर रख दिया है. अब जंग युद्ध के मैदानों के बजाय साइबर स्पेस (Cyberspace) में ज्यादा लड़ी जा रही है.

अमेरिकी फर्म ने किया खुलासा

आईटी विशेषज्ञों के मुताबिक इस जंग में देशों के हथियार मालवेयर हैं. वहीं हैकर्स और साइबर सिक्योरिटी स्पेसलिस्ट इस जंग के योद्धा हैं. इस जंग का मकसद होता है दूसरे देश का ज्यादा से ज्यादा डेटा चुराना. अमेरिका की एक साइबर सिक्योरिटी फर्म की रिपोर्ट के मुताबिक चीन (China) इस मामले में सबसे आगे है. वह अपने दुश्मन देशों पर तो साइबर हमले (Cyber Attack) कर रही है. साथ ही अपने मित्र देशों का डेटा चुराकर उन्हें भी पैरालाइज करने की कोशिश कर रहा है. 

चीन करवा रहा साइबर अटैक

गुरुवार को दुनिया के सबसे बड़े एंटरप्राइज सिक्योरिटी इंटेलिजेंस 'Recorded Future' ने इस साइबर जासूसी गतिविधि का खुलासा किया. संस्था ने कहा कि चीन की ओर से प्रायोजित हैकर्स लगातार इंडियन डिफेंस रिसर्च और दूसरे संस्थानों को निशाना बनाने की कोशिश कर रहे हैं. रिपोर्ट में चीन (China) से जुड़ा एक संगठन RedFoxtrot साइबर हमले के काम में लगा हुआ है. रिपोर्ट में यह भी बताया गया कि RedFoxtrot वर्ष 2014 से भारत में सक्रिय है और एयरोस्पेस, रक्षा, सरकार, दूरसंचार, खनन और अनुसंधान फर्मों को टारगेट (Cyber Attack) कर रहा है. 

सभी पड़ोसी देश निशाने पर

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि साइबर हमलों के जरिए चीन (China) अपने सभी पड़ोसी देशों के अंदर झांककर देख रहा है कि वे क्या कर रहे हैं. उसके बॉर्डर से सटे सभी देश उसके निशाने पर हैं. वह अपने दुश्मनों के साथ ही दोस्तों की भी साइबर निगरानी (Cyber Attack) करने की कोशिश कर रहा है. भारत के अलावा अफगानिस्तानस कजाकिस्तान, किर्गिजिस्तान, ताजिकिस्तान और उज्बेकिस्तान में चीन इसी तरह के साइबर हमलों को अंजाम दे रहा है. साइबर हमले के इस खेल में वह अपने सदाबहार दोस्त पाकिस्तान (Pakistan) को भी नहीं बख्श रहा. 

पाकिस्तान को भी नहीं बख्स रहा

PLA की Unit 69010 चीन (China) से सटे पड़ोसी देशों के साथ ही पाकिस्तान (Pakistan) के कंप्यूटर नेटवर्क में सेंधमारी कर वहां से लगातार डेटा चुराने में लगी है. रिपोर्ट में कहा गया है कि RedFoxtrot और कोई नहीं बल्कि चीन की ओर से प्रायोजित एक हैकर्स ग्रुप है. जिसे भारत और दूसरे देशों में हैकिंग और साइबर हमले (Cyber Attack) के लिए PLA की खास यूनिट के साथ जोड़ा गया है. 

VIDEO

ये भी पढ़ें- Corona को लेकर China पर फिर भड़के Donald Trump, बोले- ‘Virus से हुई तबाही के लिए हर्जाना दे बीजिंग’

चीन के साइबर हमले गोपनीय

Recorded Future के सीईओ Christopher Ahlberg कहते हैं कि PLA की हालिया गतिविधियां इंटेलिजेंस कम्युनिटी के लिए एक ब्लैक बॉक्स की तरह रही हैं. जिसे आसानी से डिकोड करना मुश्किल है. उसने अपनी गतिविधियों पर गोपनीयता का कड़ा पहरा लगा रखा है. जिसके चलते उसकी मिलिट्री टैक्टिक्स और अंतरराष्ट्रीय खतरे की सही जानकारी नहीं मिल पाती. ऐसे में सभी देशों की सरकारों को ऐसे साइबर हमलों से सचेत रहने और अपनी सुरक्षा को मजबूत करने की जरूरत है. (एजेंसी इनपुट के साथ)

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.