Coronavirus से घबराये चीन का फैसला, Mount Everest पर खीचेंगा विभाजन की रेखा

China will create separation line at Mount Everest: अपने कारनामों से पड़ोसियों की शांति भंग करने वाला चीन माउंट एवरेस्ट (Mount Everest) पर विभाजन रेखा (Separation Line) खींचने जा रहा है ताकि नेपाल (Nepal) से चढ़ने वाले पर्वतारोहियों के जरिए कोरोना वायरस (Coronavirus) उसकी सीमा में दाखिल न हो सके. 

Coronavirus से घबराये चीन का फैसला, Mount Everest पर खीचेंगा विभाजन की रेखा
फाइल फोटो: (रॉयटर्स);

नई दिल्ली: कोरोना के दंश से दुनिया को डंस चुके चीन (China) की चालबाजियां कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. दुनिया महामारी की आग में झुलस रही है. कई देशों में हाहाकार मचा है. लाखों लोग असमय काल के गाल में समा चुके हैं. इससे बेपरवाह 'बीजिंग' का फोकस पिछले साल अपनी सैन्य ताकत में लगातार इजाफा करने पर रहा. वहीं कोरोना काल में भी दूसरे देशों की जमीन पर कब्जा करने की फितरत से ड्रैगन बाज नहीं आया.

अपने कारनामों से पड़ोसी देशों की शांति भंग करने वाला चीन अब माउंट एवरेस्ट (Mount Everest) पर विभाजन रेखा (Separation Line) खींचने जा रहा है ताकि नेपाल (Nepal) से चढ़ने वाले पर्वतारोहियों के जरिए कोरोना वायरस (Coronavirus) उसकी सीमा में दाखिल न हो सके. 

सीजन बर्बाद होने की फिक्र

रॉयटर्स में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक वायरस से प्रभावित पर्वताहोरियों से होने वाले कोविड-19 (Covid-19) संक्रमण से बचने के लिए चीन यह कदम उठाने जा रहा है. आपको बता दें कि नेपाल में भी कोरोना वायरस का प्रकोप जारी है और एवरेस्ट के बेस कैंप (Base Camp) में मौजूद दर्जनों लोग कोरोना पीड़ित हैं. 

एवरेस्ट के बेस कैंप से 30 से ज्यादा संक्रमित लोगों को निकाला गया है. जिसके बाद ऐसा डर पैदा हो गया है कि वायरस इस बार चढ़ाई के सीजन को बर्बाद कर सकता है. 

ये भी पढे़ं- Spain में 6 महीने बाद खत्म हुआ Lockdown, जश्न मनाने सड़कों पर उतरे लोग

एवरेस्ट की भौगोलिक स्थिति

एवरेस्ट चीन और नेपाल की सीमा को बांटती है. चोटी का उत्तरी हिस्सा चीन की तरफ पड़ता है. तिब्बती अधिकारियों ने एक संवाददाता सम्मेलन शिन्हुआ को बताया कि माउंटेन गाइड पहाड़ी की चोटी पर विभाजन रेखाएं स्थापित करेंगे जिसके बाद ही पर्वतारोहियों को किसी भी तरह के मूवमेंट की मंजूरी दी जाएगी.  

हालांकि अभी यह साफ नहीं हुआ है कि ये बंटवारे जैसी रेखाएं किस तरह खींची जाएंगी. दरअसल अप्रैल से अब तक सिर्फ 21 चीनी पर्वतारोहियों को ही एवरेस्ट पर चढ़ने की इजाजत दी गई है. सफर की शुरुआत से पहले ये लोग तिब्बत में क्वारंटीन थे. वहीं चीन अपनी तरफ पहाड़ के उत्तरी हिस्से स्थित चीनी बेस कैंप में वायरस नियंत्रण उपायों को भी बढ़ाएगा. जहां गैर-पर्वतारोही पर्यटकों की एंट्री पर बैन होगा. 

LIVE TV
 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.