close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पाक के पूर्व पीएम की पोती ने इमरान से कहा- विंग कमांडर अभिनंदन को जल्‍द रिहा करना चाहिए

पायलट अभिनंदन को बुधवार को उस समय कथित रूप से पकड़ लिया गया, जब वह अपने मिग 21 बाइसन विमान से सुरक्षित बाहर निकल गए थे.

पाक के पूर्व पीएम की पोती ने इमरान से कहा- विंग कमांडर अभिनंदन को जल्‍द रिहा करना चाहिए
पाक के पूर्व पीएम जुल्फिकार अली भुट्टो की पोती एवं लेखिका फातिमा भुट्टो (फाइल फोटो)

वॉशिंगटन : पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री जुल्फिकार अली भुट्टो की पोती एवं लेखिका फातिमा भुट्टो ने बुधवार को इमरान खान सरकार से भारतीय वायुसेना के उस पायलट को रिहा करने के लिए कहा, जिसे एक हवाई संघर्ष के बाद पाकिस्तान ने पकड़ लेने का दावा किया है.

पायलट अभिनंदन को बुधवार को उस समय कथित रूप से पकड़ लिया गया, जब वह अपने मिग 21 बाइसन विमान से सुरक्षित बाहर निकल गए थे. हालांकि वह नियंत्रण रेखा पार करके पाकिस्तान की ओर गिरे.

भुट्टो ने न्यूयॉर्क टाइम्स में लेख में लिखा, ‘‘मैं और कई अन्य युवा पाकिस्तानी हमारे देश से आग्रह करते हैं कि शांति, मानवता और प्रतिष्ठा के प्रति हमारी प्रतिबद्धता के एक संकेत के तौर पर भारतीय पायलट को रिहा कर दिया जाए, जिसे पकड़ा गया है.’’

उल्‍लेखनीय है कि भारत और पाकिस्तान के बीच बुधवार को हवाई संघर्ष के बाद पाकिस्तान ने भारतीय वायुसेना के पायलट विंग कमांडर अभिनंदन वर्थमान को हिरासत में लिए जाने के बाद उनकी जल्‍द स्‍वदेशी वापसी हो सकती है. इसके लिए भारत सरकार हरसंभव प्रयास कर रही है. 

सूत्रों के अनुसार, पाकिस्‍तान स्थित भारतीय उच्‍चायोग ने पाकिस्‍तान के विदेश मंत्रालय को एक डेमार्श (एक राजनीतिक कदम या पहल) सौंपा है, ताकि विंग कमांडर अभिनंदन की जल्‍द सुरक्षित वापसी हो सके. एक ऐसा ही डेमार्श नई दिल्‍ली स्थित पाकिस्‍तान के कार्यकारी उच्‍चायुक्‍त को भी सौंपा गया है. न्‍यूज एजेंसी एएनआई के हवाले से यह जानकारी मिली है.

सूत्रों के अनुसार, भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर की जल्‍द रिहाई सुनिश्चित करने के लिए भारत और पाकिस्‍तानी विदेश मंत्रालय के बीच शीर्ष स्‍तर पर वार्ता चल रही है. 

ये भी पढ़ें- हमने पाकिस्‍तानी लड़ाकू विमान को मार गिराया, हमारा एक पायलट लापता: विदेश मंत्रालय

इससे पहले न्‍यूज एजेंसी भाषा के अनुसार, बीते गुरुवार को भी विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान के कार्यवाहक उच्चायुक्त सैयद हैदर शाह को तलब कर भारतीय पायलट की तत्काल और सकुशल रिहाई की मांग की थी. 

मंत्रालय ने कहा कि भारत ने पाकिस्तान को यह भी स्पष्ट कर दिया है कि भारतीय रक्षाकर्मी को कोई नुकसान नहीं पहुंचाया जाना चाहिए. इसके साथ ही एक घायल रक्षा कर्मी को पड़ोसी देश द्वारा अंतरराष्ट्रीय मानवीय कानून और जिनेवा संधि के नियमों का उल्लंघन कर ‘‘अशोभनीय तरीके से दिखाए जाने पर’’ भी भारत ने सख्त ऐतराज जताया है.