close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

नवाज शरीफ हास्पिटल पहुंचे तो मिली जमानत, मेडिकल के नाम पर कोर्ट ने बरती नरमी

डॉन न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के अध्यक्ष शहबाज शरीफ ने अपने भाई पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की रिहाई के लिए जमानत अर्जी दायर की थी. 

नवाज शरीफ हास्पिटल पहुंचे तो मिली जमानत, मेडिकल के नाम पर कोर्ट ने बरती नरमी
पूर्व पाक पीएम लंबे समय से बीमार हैं.

लाहौर: लाहौर हाईकोर्ट ने शुक्रवार को चौधरी शुगर मिल भ्रष्टाचार मामले में पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ (Nawaz Sharif) को चिकित्सा आधार पर जमानत दे दी. डॉन न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के अध्यक्ष शहबाज शरीफ ने अपने भाई पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ (Nawaz Sharif) की रिहाई के लिए जमानत अर्जी दायर की थी. नवाज वर्तमान में राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (एनएबी) की हिरासत के साथ यहां के सर्विसेज अस्पताल में भर्ती हैं. एक जवाबदेही अदालत ने इस महीने की शुरुआत में एनएबी को चौधरी शुगर मिल मामले के सिलसिले में नवाज शरीफ (Nawaz Sharif) की 14 दिन की रिमांड मंजूर की थी और शुक्रवार को यह रिमांड समाप्त हो गई.

इससे पहले दिन में अभियोजन और बचाव पक्ष की ओर से दलीलें पेश की गईं. न्यायाधीश बाकर नजफी की अध्यक्षता वाली दो सदस्यीय पीठ ने याचिका पर सुनवाई की. भ्रष्टाचार निरोधक एजेंसी के वकील ने अदालत से कहा, 'नवाज शरीफ (Nawaz Sharif) सहित हर जीवन अनमोल है.' उन्होंने यह भी कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री की स्थिति उपचार योग्य है.

सोमवार की रात भर्ती होने के बाद सर्विसेज अस्पताल में अयाज महमूद की अध्यक्षता में छह सदस्यीय मेडिकल बोर्ड ने गुरुवार को पुष्टि की थी कि नवाज शरीफ (Nawaz Sharif) इम्यून थ्रोम्बोकाइटोपेनिक पुरपुरा (आईटीपी) रोग से पीड़ित हैं. यह एक प्रकार का रक्तस्राव विकार है, जिसमें प्लेटलेट्स की संख्या काफी कम हो जाती है.

लाइव टीवी देखें-:

डॉक्टरों ने कहा है कि बीमारी का इलाज किया जा सकता है. नवाज शरीफ (Nawaz Sharif) के वकील अशतर औसाफ ने शुक्रवार को अदालत को अदालत को बताया कि पूर्व प्रधानमंत्री की स्थिति बेहद गंभीर है. डॉन न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, अयाज ने अदालत को बताया कि उनकी प्लेटलेट काउंट लगातार कम हो रही है. उन्होंने कहा कि अस्पताल ने यह देखने के लिए परीक्षण किए थे कि क्या पूर्व नेता डेंगू से भी तो पीड़ित नहीं हैं. उन्होंने अदालत को सूचित किया कि नवाज एक मधुमेह रोगी हैं और कई अन्य बीमारियों से भी पीड़ित हैं.

इस बीच इस्लामाबाद हाईकोर्ट की दो सदस्यीय पीठ ने नवाज के भाई शहबाज शरीफ की याचिका पर सुनवाई की, जिसमें एक अन्य अल-अजीजिया भ्रष्टाचार मामले में नवाज शरीफ (Nawaz Sharif) की सजा को निलंबित करने और जमानत पर रिहा करने की मांग की गई है. अदालत ने यह सुनवाई 29 अक्टूबर तक के लिए स्थगित कर दी है. डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक, नवाज को अभी चौधरी शुगर मिल मामले में जमानत मिली है जबकि अल-अजीजिया मामले में अभी इस पर फैसला होना बाकी है. यानी, फिलहाल उनकी तुरंत रिहाई संभव नहीं है.