मसूद को वैश्विक आतंकी घोषित करने की जंग में भारत का फ्रांस दे रहा है साथ

फ्रांस ने यूरोपीय संघ (ईयू) से संपर्क किया है और उम्मीद है कि 28 सदस्यों वाला यह समूह सर्व सम्मति के सिद्धांत के आधार पर इस मुद्दे पर फैसला करेगा.

मसूद को वैश्विक आतंकी घोषित करने की जंग में भारत का फ्रांस दे रहा है साथ
भारत मसूद पर कार्रवाई के लिए प्रयास कर रहा है. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: विदेश मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को वैश्विक आतंकवादी की सूची में शामिल करवाने के लिये फ्रांस ने यूरोपीय संघ (ईयू) से संपर्क किया है और उम्मीद है कि 28 सदस्यों वाला यह समूह सर्व सम्मति के सिद्धांत के आधार पर इस मुद्दे पर फैसला करेगा.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा, “फ्रांस ने यूरोपीय संघ के साथ यह मुद्दा उठाया है. हम समझते है कि एक बार आतंकवादी घोषित किये जाने की उनकी प्रक्रिया पूरी हो जाएगी तब यूरोपीय संघ इस पर फैसला लेगा.” 

उन्होंने कहा, “इस पर सर्वसम्मति से फैसला होना है.” ईयू सर्वसम्मति के सिद्धांत के तहत काम करता है. 

यूरोपीय संघ के सदस्य फ्रांस की यह पहल संयुक्त राष्ट्र में अजहर को प्रतिबंधित किये जाने के प्रयास को चीन द्वारा बाधित किये जाने के कुछ दिनों बाद आई है. संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में अजहर को वैश्विक आतंकवादी की सूची में शामिल किये जाने के प्रस्ताव का 15 सदस्यो में से 14 ने समर्थन किया था लेकिन चीन एक मात्र देश था जो इसके पक्ष में नहीं था. 

कूटनीतिक सूत्रों के मुताबिक जर्मनी भी यूरोपीय संघ के कुछ सदस्य देशों के संपर्क में है जिससे अजहर को समूह द्वारा आतंकवादी के तौर पर सूचीबद्ध कराया जा सके.