चीनी और भारतीय सेनाओं का 'हैंड-इन-हैंड-2019' आतंकवाद-रोधी प्रशिक्षण

चीनी और भारतीय सेनाओं का 'हैंड-इन-हैंड-2019' आतंकवाद-रोधी संयुक्त प्रशिक्षण शुक्रवार को भारत के मेघालय के उमरोई में समाप्त हुआ. इस दौरान चीन व भारत की सेनाओं ने दोनों पक्षों के अवलोकन समूह के नेताओं ने संयुक्त रूप से सेनाओं की सलामी ली और सर्वश्रेष्ठ सैनिकों को पदक वितरित किया.

चीनी और भारतीय सेनाओं का 'हैंड-इन-हैंड-2019' आतंकवाद-रोधी प्रशिक्षण
(फाइल फोटो)

बीजिंग: चीनी और भारतीय सेनाओं का 'हैंड-इन-हैंड-2019' आतंकवाद-रोधी संयुक्त प्रशिक्षण शुक्रवार को भारत के मेघालय के उमरोई में समाप्त हुआ. इस दौरान चीन व भारत की सेनाओं ने दोनों पक्षों के अवलोकन समूह के नेताओं ने संयुक्त रूप से सेनाओं की सलामी ली और सर्वश्रेष्ठ सैनिकों को पदक वितरित किया.

सैन्य प्रशिक्षण अभ्यास में चीन और भारत की सेनाओं ने आतंकवाद के संयुक्त विरोध की पृष्ठभूमि में घुसपैठ, सफाया, बंधकों का बचाव, भागते हुए दुश्मनों को पकड़ना समेत मिशन पूरा किए. चीनी अवलोकन समूह के नेता ली शीचोंग ने कहा कि वर्तमान संयुक्त सैन्य प्रशिक्षण में चीन और भारत के सैनिक साथ साथ रहते और प्रशिक्षण करते हैं.

उन्होंने एक दूसरे से सीखते हुए आतंकवाद के संयुक्त विरोध के अनुभवों पर विचार-विमर्श किया और एक दूसरे का तकनीकी और सामरिक स्तर उन्नत किया.

बताया गया है कि 'हैंड-इन-हैंड-2019' आतंकवाद-रोधी संयुक्त प्रशिक्षण 7 से 20 दिसंबर तक उमरोई में आयोजित हुआ. 2007 से आज तक चीन और भारत की सेनाओं ने कुल 8 बार संयुक्त रूप से आतंक-रोधी प्रशिक्षण आयोजित किए.