close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

इमरान खान का कबूलनामा, पाकिस्तानी सेना और ISI ने अलकायदा के आतंकियों को ट्रेंड किया

पाकिस्तान (Pakistan) के पीएम इमरान खान (Imran khan) ने कबूल किया है कि 1980 में अफगानिस्तान में सोवियत रूस के खिलाफ आतंकवादियों को पाकिस्तान (Pakistan) ने तैयार किया था. 

इमरान खान का कबूलनामा, पाकिस्तानी सेना और ISI ने अलकायदा के आतंकियों को ट्रेंड किया
अमेरिका में पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने कबूल किया है कि उनका देश आतंकियों को पनाह देता रहा है.

न्यूयॉर्क: पाकिस्तान (Pakistan) के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran khan) का अमेरिका की धरती पर आतंकवाद पर सबसे बड़ा कबूलनामा हुआ है. इमरान खान (Imran khan) ने कबूल किया है कि अल कायदा के आतंकियों को पाकिस्तान (Pakistan) की सेना और ISI ने ट्रेनिंग दी है. पाकिस्तान (Pakistan) के पीएम इमरान खान (Imran khan) ने कबूल किया है कि 1980 में अफगानिस्तान में सोवियत रूस के खिलाफ आतंकवादियों को पाकिस्तान (Pakistan) ने तैयार किया था. पाक की खुफिया एजेंसी ISI ने अमेरिका की मदद से इन आतंकवादियों को ट्रेनिंग दी थी. यहां आपको बता दें कि ISI पाकिस्तान (Pakistan) की खुफिया एजेंसी है.

जब इमरान ने कहा, आप मेरी जगह होते तो आपको हार्ट अटैक हो जाता
पाकिस्तान (Pakistan) के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran khan) खुद को कितनी परेशानियों से घिरा हुआ पा रहे हैं, यह खुद उनकी बात से स्पष्ट हो रहा है. हल्के-फुल्के अंदाज में ही सही, लेकिन वह यहां तक कह बैठे हैं कि दिक्कतें इतनी हैं कि कोई और उनकी जगह होता तो उसे हार्ट अटैक हो गया होता. उनकी बातों से यह भी साफ हो गया है कि वह जो चाहते हैं, कई बार उसे भी नहीं कर पाते. पाकिस्तान (Pakistan)ी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, कौंसिल आन फॉरेन अफेयर्स में संबोधन के दौरान इमरान ने अफगानिस्तान, भारत और चीन के बीच स्थित कई समस्याओं से घिरे पाकिस्तान (Pakistan) के सामने पेश चुनौतियों पर बात करते हुए दिल का दौरा पड़ने से जुड़ी टिप्पणी की.

लाइव टीवी देखें-:

उन्होंने कौंसिल आन फॉरेन अफेयर्स के अध्यक्ष व चर्चा के मॉडरेटर रिचर्ड हॉस के एक सवाल पर यह टिप्पणी की. इमरान ने हॉस से कहा, 'पाकिस्तान (Pakistan) के सामने इतनी गंभीर चुनौतियां हैं कि अगर आप मेरी जगह होते तो आपको हार्ट अटैक हो जाता. यह तो क्रिकेट खेलने के दौरान सीखे गए मुश्किल और कड़ी मेहनत के तौर तरीकों की वजह से संभव हो सका है कि मैं दृढ़तापूर्वक इन चुनौतियों का सामना करने और इनसे निपटने की कोशिश कर रहा हूं.' पाकिस्तान (Pakistan)ी क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान इमरान खान (Imran khan) की इस बात पर आयोजन में ठहाके लगे.

हंसी-मजाक के बीच ही पाकिस्तान (Pakistan)ी प्रधानमंत्री एक बार फिर अपनी बेचारगी उस वक्त दिखा गए जब उन्होंने कहा कि कुछ मामलों से निपटने के लिए उनके पास वह पॉवर नहीं है जो चीन के शासकों के पास होती है. उन्होंने कहा कि चीन हमारे लिए प्रगति की मिसाल है. उसने अपने करोड़ों नागरिकों को गरीबी से बाहर निकाला है. इमरान ने कहा, 'अगर मेरे पास भी उनके जैसे आदेश जारी करने की शक्ति हो तो मैं भी देश से गरीबी और भ्रष्टाचार खत्म कर दूं.'

इमरान खान (Imran khan) ने जॉनसन, एर्दोगन से मुलाकात की
पाकिस्तान (Pakistan) के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran khan) ने अपने ब्रिटिश समकक्ष बोरिस जॉनसन और तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोगन से न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा (यूएनजीए) के चल रहे 74वें सत्र से इतर मुलाकात की. द न्यूज इंटरनेशनल ने पाकिस्तान (Pakistan) विदेश कार्यालय के हवाले से बताया कि खान ने सोमवार को जॉनसन के साथ द्विपक्षीय मुद्दों पर चर्चा की और एर्दोगन को कश्मीर की स्थिति से अवगत कराया.

जॉनसन और एर्दोगन के अलावा, खान ने स्विस कन्फेडरेशन के प्रेसिडेंट उली मौरर से भी मुलाकात की और द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और बहुपक्षीय मुद्दों पर चर्चा की. लेकिन दिन का सबसे महत्वपूर्ण आकर्षण खान की अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ हुई बैठक रही. ट्रंप के साथ खान की यह दूसरी आमने-सामनेकी बैठक थी. इससे पहले प्रधानमंत्री बनने के बाद खान ने अमेरिकी के पहले दौरे के दौरान वॉशिंगटन में ट्रंप संग बैठक की थी.

बैठक के बाद, ट्रंप ने मीडिया से कहा कि वह कश्मीर पर मध्यस्थता करने के लिए तैयार है, लेकिन सिर्फ तभी करेगें जब भारत और पाकिस्तान (Pakistan) दोनों उनके प्रस्ताव को स्वीकार करेंगे. बाद में सोमवार को, खान ने संयुक्त राष्ट्र जलवायु सम्मेलन को भी संबोधित किया जहां उन्होंने पाकिस्तान (Pakistan) कहा कि पाकिस्तान (Pakistan) अगले पांच वर्षों में 10 अरब से अधिक पेड़ लगाएगा.