PAK: खुफिया एजेंसी की मदद से Imran Khan ने बचाई सत्ता, मरियम बोलीं- टाइम हुआ ओवर

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) को संसद के 342 सदस्यीय निचले सदन में 178 वोट मिले हैं और सामान्य बहुमत के लिए 172 वोट की जरूरत थी. हालांकि विपक्ष ने बहुमत हासिल करने के तरीके पर विरोध जताते हुए विश्वास मत दोबारा कराने की बात कही है. 

PAK: खुफिया एजेंसी की मदद से Imran Khan ने बचाई सत्ता, मरियम बोलीं- टाइम हुआ ओवर
इमरान खान और मरियम नवाज (फोटो साभार: PTI)

इस्लामाबाद: पाकिस्तान (Pakistan) के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ (Nawaz Sharif) की बेटी मरियम नवाज (Maryam Nawaz) ने रविवार इमरान खान (Imran Khan) का भंडाफोड़ करते हुए बड़ा खुलासा किया. उन्होंने बताया, 'इमरान ने खुफिया एजेंसी की मदद से सीनट में विश्वास मत हासिल किया है. ऐसा करना संवैधानिक रूप से गलत है. इमरान का टाइम ओवर हो चुका है. अब अगली हुकूमत हमारी आएगी.'

दरअसल, इमरान ने शनिवार को विपक्षी दलों के बहिष्कार के आह्वान के बीच नेशनल असेंबली में विश्वास मत जीत लिया है. उन्हें 342 सदस्यीय निचले सदन में 178 वोट मिले. हालांकि विपक्षी नेताओं ने नेशनल असेंबली में इमरान खान सरकार के विश्वास मत प्रस्ताव करने के तरीकों को नकार दिया है. उन्होंने कहा, 'यह एक विश्वास मत नहीं था. हम जानते हैं कि किन एजेंसियों ने रात भर असेंबली सदस्यों के घरों पर नजर रखी. किसने प्रत्येक सदस्य की उपस्थिति सुनिश्चित करने के लिए उनके दरवाजों पर दस्तक दी.'

ये भी पढ़ें:- केरल में अमित शाह ने फूंका चुनावी बिगुल, बोले- CPI कर रही इलू-इलू, कांग्रेस दिशाहीन

असेंबली के बाहर आपस में उलझे सांसद

हालांकि वोटिंग से पहले असेंबली के बाहर सत्ता और विपक्षी दलों के सांसद आपस में उलझते नजर आए. पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (PML-N) के नेताओं की सत्ताधारी पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) के समर्थकों के साथ तीखी बहस हुई. विवाद के दौरान पीएमएल-एन नेता अहसान इकबाल पर जूते फेंके गए. वहीं डॉ. मुसद्दिक मलिक और मरियम औरंगजेब पर हमला किया गया. पीएमएल-एन के नेताओं ने आरोप लगाया कि उन्हें पीटीआई समर्थकों ने परेशान किया और उनके साथ हाथापाई की. उन्होंने यह आरोप भी लगाया कि उनकी सुरक्षा के लिए कोई पुलिस या सुरक्षा मौजूद नहीं थी.

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.