India vs Pakistan Match: आतंकवाद पर विदेश मंत्री जयशंकर ने पाक को जमकर लताड़ा, भारत-पाक क्रिकेट मैच को लेकर कही ये बड़ी बात
topStories1hindi1479193

India vs Pakistan Match: आतंकवाद पर विदेश मंत्री जयशंकर ने पाक को जमकर लताड़ा, भारत-पाक क्रिकेट मैच को लेकर कही ये बड़ी बात

Pakistan News: एस जयशंकर ने कहा, ‘मैं दोहराना चाहता हूं कि हमें यह कभी भी स्वीकार नहीं करना चाहिए कि एक देश के पास आतंकवाद का अधिकार है. हमें इसे अवैध बनाना होगा, और इसके लिए उस देश पर अंतरराष्ट्रीय दबाव होना चाहिए. यह दबाव तब बनेगा जब आतंकवाद के शिकार लोग अपनी आवाज उठाएंगे.’

India vs Pakistan Match: आतंकवाद पर विदेश मंत्री जयशंकर ने पाक को जमकर लताड़ा, भारत-पाक क्रिकेट मैच को लेकर कही ये बड़ी बात

S Jaishankar on India Pakistan Relation: भारत और पाकिस्तान के बीच क्रिकेट मैच को लेकर चल रहे गतिरोध पर पहली बार विदेश मंत्री एस. जयशंकर का बयान आया है. विदेश मंत्री ने शुक्रवार को कहा कि सीमा पार आतंकवाद को कभी भी सामान्य नहीं समझना चाहिए. भारतीय खिलाड़ियों के पाकिस्तान नहीं जाने की बीसीसीआई की घोषणा के बाद एशिया कप 2023 को लेकर बीसीसीआई और पीसीबी के बीच विवाद के बीच जयशंकर ने कहा, ‘टूर्नामेंट आते रहते हैं और आप सरकार का रुख जानते हैं. देखते हैं क्या होता है.’

सभी आवाज उठाएंगे तभी बनेगा दबाव 

‘मैं दोहराना चाहता हूं कि हमें यह कभी भी स्वीकार नहीं करना चाहिए कि एक देश के पास आतंकवाद का अधिकार है. हमें इसे अवैध बनाना होगा, और इसके लिए उस देश पर अंतरराष्ट्रीय दबाव होना चाहिए. यह दबाव तब बना रहेगा जब आतंकवाद के शिकार लोग अपनी आवाज उठाएंगे.’ जयशंकर ने एक न्यूज चैनल के कार्यक्रम में कहा, हमें इसमें लीडरशिप दिखानी होगी क्योंकि आतंकवाद के कारण हमारा काफी खून बहा है.’

आतंकवााद को बताया जटिल मुद्दा

भारत और पाकिस्तान के बीच फिर से वार्ता शुरू करने के मुद्दे पर जयशंकर ने कहा, ‘यह एक जटिल मुद्दा है. अगर मैं आपके सिर पर बंदूक रख दूं तो क्या आप मुझसे बात करेंगे? नेता कौन हैं, शिविर कहां हैं... हमें यह कभी नहीं सोचना चाहिए कि सीमा पार आतंकवाद सामान्य है. मुझे एक और उदाहरण दें जहां एक पड़ोसी दूसरे के खिलाफ आतंकवाद को प्रायोजित कर रहा है. ऐसा कोई उदाहरण नहीं है. एक तरह से यह असामान्य नहीं है, लेकिन असाधारण भी है.’

'रूस-यूक्रेन युद्ध में भारत ने लिया पक्ष'

जयशंकर ने रूस-यूक्रेन युद्ध पर भी अपनी बात कही. उन्होंने कहा ‘सरकार ने अपने लोगों का पक्ष लिया. हमें अपना लाभ देखना था और कुछ देशों को पहले आगे आना पड़ा. हम अकेले नहीं हैं जो जल्द से जल्द स्थिति का कूटनीतिक समाधान चाहते हैं. इसमें लगभग 200 देश हैं. दुनिया के अधिकतर लोग चाहेंगे कि युद्ध जल्द खत्म हो, कीमतें कम हों, और प्रतिबंध खत्म हों.’ 

पाठकों की पहली पसंद Zeenews.com/Hindi - अब किसी और की ज़रूरत नहीं

Trending news