चीन को घेरने के लिए अमेरिका ने चला एक और दांव, पोम्पिओ ने की यह घोषणा

अमेरिकी विदेश मंत्री ने माइक पोम्पिओ कहा है कि अमेरिका मालदीव में अपना दूतावास खोलने जा रहा है. यूएस के इस कदम से चीन को मिर्ची लगना तय है. इससे पहले श्रीलंका यात्रा के दौरान भी पोम्पिओ ने चीन की कम्युनिस्ट सरकार पर जमकर हमला बोला था.

चीन को घेरने के लिए अमेरिका ने चला एक और दांव, पोम्पिओ ने की यह घोषणा
फाइल फोटो

माले: चीन (China) को घेरने की कोशिश के तहत अमेरिका (America) मालदीव (Maldives) में अपना दूतावास खोलने जा रहा है. अमेरिकी विदेश मंत्री ने माइक पोम्पिओ (Mike Pompeo) यह घोषणा की. पोम्पिओ ने मालदीव के विदेश मंत्री अब्दुल्ला शाहिद (Abdullah Shahid) से मुलाकात की और हिंद महासागर में सुरक्षा को बढ़ावा देने पर जोर दिया. उन्होंने कहा कि अमेरिका दोनों देशों में सहयोग बढ़ाने के लिए मालदीव में अपना दूतावास खोलने जा रहा है. 

पुल की तरह करेगा काम
मालदीव के विदेश मंत्री ने इस फैसले को ऐतिहासिक कदम बताते हुए कहा कि यह दोनों देशों के बीच एक पुल की तरह काम करेगा. इस मुलाकात में मालदीव ने जलवायु परिवर्तन का मुद्दा भी उठाया. विदेश मंत्री अब्दुल्ला शाहिद ने कहा कि हमारा कार्बन फुटप्रिंट बहुत कम था, लेकिन हम अभी भी जलवायु परिवर्तन से पीड़ित हैं. हम इस दिशा में अमेरिका और अन्य बड़े देशों को एक साथ काम करना चाहते हैं. गौरतलब है कि मालदीव के लिए अमेरिकी दूतावास की सेवाएं वर्तमान में श्रीलंका के कोलंबो स्थित अमेरिकी दूतावास से उपलब्ध कराई जाती हैं.

निकिता हत्याकांड: SIT ने शुरू की जांच, 30 दिनों के अंदर दायर होगी चार्जशीट

पोम्पिओ के हमले का चीनी जवाब
इससे पहले, श्रीलंका यात्रा के दौरान माइक पोम्पिओ ने श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटाबया राजपक्षे से मुलाकात की और चीन की कम्युनिस्ट सरकार पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने चीनी सरकार को ‘शिकारी’ (Predator) करार दिया, जिसके जवाब में कोलंबो स्थित चीनी दूतावास ने ‘एलियंस बनाम प्रेडटर’ वीडियो गेम की एक छवि ट्वीट की. चीन ने लिखा, ‘क्षमा करें, मिस्टर पोम्पिओ हम चीन-श्रीलंका मित्रता और सहयोग को बढ़ावा देने में व्यस्त हैं, आपके एलियन बनाम प्रेडटर’ गेम में हमें कोई दिलचस्पी नहीं है’. चीन का आरोप है कि अमेरिका श्रीलंका के साथ उसके रिश्ते खराब करना चाहता है.

भारत से हुई थी 2+2 वार्ता
अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ मालदीव और श्रीलंका की यात्रा पर रवाना होने से पहले भारत के साथ 2+2 वार्ता में शामिल हुए थे. इस बैठक में चीन सहित विभिन्न मुद्दों पर बातचीत हुई. चीन के साथ LAC पर तनाव के बीच हुई इस बैठक से ड्रैगन तिलमिलाया हुआ है.