26/11 Mumbai Attack के गुनहगारों से हमदर्दी? Hafiz Saeed कर रहा 'प्रार्थना'

मुंबई हमले की 12वीं बरसी (12th anniversary of Mumbai terror attack) पर पाकिस्तान में हाफिज सईद (Hafiz Saeed), कसाब (Kasab) समेत मारे गए दसों आतंकियों के लिए प्रार्थना सभा करवा रहा है.

26/11 Mumbai Attack के गुनहगारों से हमदर्दी? Hafiz Saeed कर रहा 'प्रार्थना'
फाइल फोटो.

नई दिल्ली: 26 नवंबर 2008 (26/11) को देश की आर्थिक राजधानी मुंबई (Mumbai) पर पाकिस्तान (Pakistan) के आतंकवादियों ने कायराना हमला किया. देश आतंकवाद के इन जख्मों को कभी भूल नहीं सकता. मुंबई आतंकी हमले (Mumbai terror attacks) को भले ही 12 वर्ष बीत गए लेकिन आज भी जख्म हरे हैं. भारत (India) की तरफ से पाकिस्तान पर लगातार मुंबई हमलों (26/11 Mumbai Attacks) के गुनहगारों को सजा दिलाए जाने मांग की जा रही है लेकिन पाकिस्तान उन्हें बचाने की कोशिश कर रहा है. इतना ही नहीं पाकिस्तान मारे गए 10 आतंकवादियों के प्रति हमदर्दी भी दिखा रहा है.

गुनहगारों को श्रद्धांजलि?
मुंबई हमले की 12वीं बरसी (12th anniversary of Mumbai terror attack) पर पाकिस्तान में हाफिज सईद (Hafiz Saeed), कसाब (Kasab) समेत मारे गए दसों आतंकियों के लिए प्रार्थना सभा करवा रहा है. पाकिस्तान (Pakistan) से संचालित  लश्कर-ए-तैयबा (Lashkar-e-Taiba) की राजनीतिक विंग जमात-उद-दावा (Jamaat-ud-Dawah) का मुखिया आतंकी हाफिज सईद आज पाकिस्तान स्थित पंजाब के साहिवाल शहर में एक प्रार्थना सभा करवा रहा है. इस प्रार्थना सभा में हाफिज सईद मुंबई आतंकी हमले के गुनहगार मारे गए 10 आतंकियों को श्रंद्धांजलि देगा.

ह भी पढ़ें: Mumbai Attack की बरसी पर Ratan Tata ने शेयर की ताज होटल की पेंटिंग, लिखी भावुक पोस्ट

पाकिस्तान बचा रह मुंबई हमले के गुनहगारों को
इंटेलिजेंस रिपोर्ट के मुताबिक जमात-उद-दावा  (Jamaat-ud-Dawah) मस्जिदों में आतंकवादियों के लिए विशेष प्रार्थना सभाएं करवा रहा है. ये सब हो रहा है इमरान खान (Imran Khan) की नाक के नीचे लेकिन चुप्पी साध रखी है. जबकि हाल ही में यूएन (UN) में भारत की तरफ से पाकिस्तान (Pakistan)  को आतंकवाद पर कड़ा संदेश दिया था. पाकिस्तान की तरफ से जारी आतंकवादियों की लिस्ट में मुंबई हमले के असल गुनहगारों के नाम न होने पर भारत ने आपत्ति जताई थी. भारत स्पष्ट कर चुका है कि तमाम सबूतों के बाद भी आखिर मुंबई हमले के गुनहगारों को बचाया क्यों जा रहा है?

लखवी और सईद की हुई मीटिंग
इस सबसे इतर सूचना यह भी है कि लश्कर (Lashkar) के जिहाद विंग के प्रमुख जकी-उर-रहमान लखवी (Zakiur Rehman Lakhvi) और जमात उद दावा के सह-संस्थापक हाफिज सईद (Hafiz Saeed) के बीच अक्टूबर में मुलाकात हुई है. यह मुलाकात पाकिस्तान स्थित लाहौर के जौहर टाउन में हुई है. मीटिंग में जेहाद (Jihad) के नाम पर कश्मीर में आतंकवादी गतिविधियां बढ़ाने के लिए फंड इकट्ठा करने पर योजना बनाई गई है.

यह भी पढ़ें: Mumbai Attack की 12वीं बरसी, इजरायल में लोग यूं दे रहे हैं श्रद्धांजलि

इस्लामाबाद आतंकवादियों की शरण स्थली
हाफिज सईद की आतंकवादियों के प्रार्थना सभा और जकी-उर-रहमान लखवी व हाफिज सईद की मीटिंग से स्पष्ट है ककि इस्लामाबाद आतंकवादियों की शरण स्थली बना हुआ है, जबकि अंतरराष्ट्रीय मंच पर पाकिस्तान बार-बार झूठ बोलकर बचने की कोशिश करता है.  मुंबई हमले में 170 लोगों की जान लेने वाले आतंकी हाफिज सईद को पाकिस्तान बार-बार सबूत न होने का हवाला देकर बचाता आ रहा है.

LIVE TV
 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.