बैसाखी का जश्न मनाने के लिए भारत से 2,266 सिख तीर्थयात्री पाकिस्तान पहुंचे

दो विशेष ट्रेनों से वाघा रेलवे स्टेशन पहुंचे तीर्थयात्रियों की अगवानी ईटीपीबी के सचिव तारिक खान और पाकिस्तान गुरुद्वारा प्रबंधक समिति के अध्यक्ष सरदार तारा सिंह ने की.

बैसाखी का जश्न मनाने के लिए भारत से 2,266 सिख तीर्थयात्री पाकिस्तान पहुंचे
सिख श्रद्धालु दो विशेष ट्रेनों से पाकिस्तान पहुंचे (फोटो साभार - PTI)

लाहौर: पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में हसन अब्दाल के गुरुद्वारा पंजा साहिब में बैसाखी उत्सव का जश्न मनाने के लिए शुक्रवार को 2,200 से अधिक सिख तीर्थयात्री भारत से यहां पहुंचे.

दो विशेष ट्रेनों से वाघा रेलवे स्टेशन पहुंचे तीर्थयात्रियों की अगवानी इवैक्यू ट्रस्ट प्रोपर्टी बोर्ड (ईटीपीबी) के सचिव तारिक खान और पाकिस्तान गुरुद्वारा प्रबंधक समिति के अध्यक्ष सरदार तारा सिंह ने की.

ईटीपीबी के प्रवक्ता आमिर हाशमी ने बताया, ‘कुल 2,266 सिख श्रद्धालु दो विशेष ट्रेनों से यहां पहुंचे हैं. इसके बाद वे हसन अब्दाल (अटक) गुरुद्वारा पंजा साहिब के लिए रवाना हो गए.’उन्होंने कहा कि श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए विशेष प्रबंध किए गए हैं और उनकी सुरक्षा के लिए बलों और रेंजर्स को तैनात किया गया है.

ननकाना साहिब और अन्य गुरुद्वारों की भी यात्रा करेंगे तीर्थयात्री
हाशमी ने कहा कि तीर्थयात्री यहां अपने 10 दिन के प्रवास के दौरान गुरुद्वारा जन्मस्थान ननकाना साहिब समेत पंजाब प्रांत के अन्य गुरुद्वारों की यात्रा भी करेंगे. उन्होंने बताया कि वे 21 अप्रैल को भारत के लिए रवाना होंगे.

भारतीय प्रतिनिधिमंडल के नेता सरदार वरमिन्दर सिंह खालसा ने उम्मीद जताई कि सरकार गुरु नानक देव की 550वीं जयंती के मौके पर बड़ी संख्या में भारतीय सिख तीर्थयात्रियों को वीजा जारी करेगी.

गौरतलब है कि भारत और पाकिस्तान ने गुरु नानक देव की 550वीं जयंती पर करतारपुर कॉरिडोर खोलने की घोषणा की है.