पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने यूएन में फिर अलापा कश्मीर का राग

कुरैशी ने अपने ट्विटर अकाउंट से ट्वीट करते हुए बताया कि वह न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासचिव से मिले और उन्होंने भारत के जम्मू एवं कश्मीर में पीड़ित लोगों के प्रति अंतर्राष्ट्रीय समुदाय का ध्यान खींचने का आग्रह किया.

पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने यूएन में फिर अलापा कश्मीर का राग
फाइल फोटो

इस्लामाबाद: पाकिस्तान (Pakistan) के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी (Shah Mehmood Qureshi) ने अपने हालिया अमेरिकी दौरे के दौरान संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस के साथ न्यूयॉर्क (NewYork) में मुलाकात की. इस दौरान उन्होंने जम्मू एवं कश्मीर के मुद्दे पर बातचीत की.

कुरैशी ने यह जानकारी ट्विटर के जरिए दी है. द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार, कुरैशी ने अपने ट्विटर अकाउंट से ट्वीट करते हुए बताया कि वह न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासचिव से मिले और उन्होंने भारत के जम्मू एवं कश्मीर में पीड़ित लोगों के प्रति अंतर्राष्ट्रीय समुदाय का ध्यान खींचने का आग्रह किया.

कुरैशी ने ट्वीट किया, "न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस (Antonio Guterres) के साथ भी मुलाकात की, जहां मैंने भारतीय कब्जे में कश्मीरियों की पीड़ा पर अंतर्राष्ट्रीय समुदाय का ध्यान रेखांकित किया और इसके लिए संयुक्त राष्ट्र के प्रस्तावों और कश्मीरी लोगों की इच्छा के अनुरूप हल निकालने की बात कही."

द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट में बताया गया कि कुरैशी ने नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के नेतृत्व वाली सरकार के फैसले के बाद जम्मू एवं कश्मीर में मानवाधिकारों के उल्लंघन पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) के सदस्यों के साथ बैठक में भी इस मुद्दे को उठाया और इस पर अंतर्राष्ट्रीय संज्ञान लिए जाने की अपील की. कुरैशी ने हालांकि इस बात की कोई जानकारी नहीं दी कि गुटेरेस का इस पर क्या जवाब रहा.

पाकिस्तान के विदेश मंत्री का यह महज बड़बोलापन ही है, क्योंकि उन्हें कश्मीर (Kashmir) के संबंध में हर मोर्चे पर मुंह की खानी पड़ी है. उन्होंने हाल ही में स्वीकार किया है कि दुनिया की नजर में कश्मीर मुद्दा द्विपक्षीय है, जिसे नई दिल्ली और इस्लामाबाद (Islamabad) के बीच ही हल किया जाना है.

उन्होंने संयुक्त राष्ट्र (United Nations) में कश्मीर मुद्दे एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान कहा था, "कई देशों का मानना है कि यह चिंता का विषय है, लेकिन इस पर चर्चा की जानी चाहिए और इसे द्विपक्षीय रूप से हल किया जाना चाहिए."

दरअसल, चीन (China) ने बुधवार को संयुक्त राष्ट्र की सुरक्षा परिषद के सामने कश्मीर मुद्दे को उठाया, लेकिन अन्य सदस्यों ने कहा कि यह एक द्विपक्षीय मुद्दा है, इसलिए इसे नहीं लिया जाना चाहिए. राजनयिक सूत्रों ने कार्यवाही की जानकारी देते हुए कहा कि यह बैठक बिना किसी बयान के खत्म हो गई.

ये भी देखें:-