पाक सरकार ने दिलीप कुमार और राजकपूर के पैतृक आवासों को संरक्षण में लेने की प्रक्रिया शुरू की

प्रांतीय सरकार ने कपूर की 6.25 मारला और कुमार की चार मारला की हवेलियों के लिए क्रमश: 1.50 करोड़ और 80 लाख रूपये दाम तय किये थे.

पाक सरकार ने दिलीप कुमार और राजकपूर के पैतृक आवासों को संरक्षण में लेने की प्रक्रिया शुरू की
फाइल फोटो

पेशावर: पाकिस्तान के खैबर पख्तूनखा की प्रांतीय सरकार ने शहर में बॉलीवुड के महान अभिनेताओं दिलीप कुमार और राज कपूर के पैतृक आवासों को संग्रहालय में तब्दील करने के लिए उन्हें औपचारिक तौर पर संरक्षण में लेने की प्रक्रिया शुरू कर दी है.

अंतिम तारीख तय, उसके बाद सरकार लेगी कब्जा

पेशावर के उपायुक्त खालिद महमूद ने बुधवार को इन ऐतिहासिक भवनों के मौजूदा मालिकों को अंतिम नोटिस जारी किया और उन्हें 18 मई को तलब किया. ये लोग खैबर पख्तूनख्वा सरकार द्वारा इन हवेलियों के तय किये गये दाम पर अपनी आपत्ति दर्ज करा सकते हैं. प्रांतीय सरकार या अदालत मकानों के मूल्यों में वृद्धि का आदेश दे सकती है.

संग्रहालय में बदलेगी पाक सरकार

पहले प्रांतीय सरकार ने कपूर की 6.25 मारला और कुमार की चार मारला की हवेलियों के लिए क्रमश: 1.50 करोड़ और 80 लाख रूपये दाम तय किये थे. इन दोनों हवेलियों को संग्रहालय में तब्दील करने की योजना है.

हवेलियों के दामों को लेकर आपत्ति

भारत, बांग्लादेश और पाकिस्तान में जमीन के क्षेत्रफल को मापने की इकाई मारला है. एक मारला में 272.25 वर्ग फुट होते हैं. कपूर की हवेली के मालिक अली कादिर ने 20 करोड़ रूपये मांगे थे जबकि कुमार की हवेली के मालिक गुल रहमान मोहम्मद ने कहा था कि सरकार को 3.50 करोड़ की बाजार दर पर उसे खरीदना चाहिए.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.