आतंकी मसूद अजहर पर कसा शिकंजा, पाकिस्तान ने जारी किया अरेस्ट वारंट

मामले से जुड़े एक अधिकारी ने बताया कि आतंक रोधी विभाग के एक निरीक्षक के अनुरोध पर एटीसी न्यायाधीश ने मसूद अजहर के लिए गिरफ्तारी वारंट जारी किया. समझा जाता है कि अजहर अपने पैतृक शहर बहावलपुर में कहीं ‘सुरक्षित स्थान’ पर छिपा हुआ है.

आतंकी मसूद अजहर पर कसा शिकंजा, पाकिस्तान ने जारी किया अरेस्ट वारंट
फाइल फोटो.

लाहौर: पाकिस्तान (Pakistan) की आतंक रोधी अदालत ने आतंकवादी गतिविधियों के लिए फंडिंग के आरोपों पर प्रतिबंधित जैश-ए-मोहम्मद (JEM) के प्रमुख मसूद अजहर (Masood Azhar) के लिए गुरुवार को गिरफ्तारी वारंट जारी किया. गुजरांवाला आतंकरोधी अदालत (एटीसी) ने जेईएम के कुछ सदस्यों के खिलाफ पंजाब पुलिस के आतंक रोधी विभाग (सीटीडी) द्वारा शुरू आतंकी फंडिंग मामले की सुनवाई के दौरान वारंट जारी किया.

एक अधिकारी ने बताया कि एटीसी गुजरांवाला न्यायाधीश नताशा नसीम सुप्रा ने मसूद अजहर के लिए गिरफ्तारी वारंट जारी किया है और सीटीडी को उसे गिरफ्तार कर अदालत में पेश करने का निर्देश दिया है. सीटीडी ने न्यायाधीश को बताया कि जेईएम प्रमुख आतंकी फंडिग मामले में संलिप्त था और वह जेहादी साहित्य बेचता है.

यहां छिपा है मसूद अजहर

उन्होंने बताया कि सीटीडी के एक निरीक्षक के अनुरोध पर एटीसी न्यायाधीश ने अजहर के लिए गिरफ्तारी वारंट जारी किया. समझा जाता है कि अजहर अपने पैतृक शहर बहावलपुर में कहीं ‘सुरक्षित स्थान’ पर छिपा हुआ है.

ये भी पढ़ें- PNB Scam: नीरव मोदी की बढ़ीं मुश्किलें, बहन और जीजा बने सरकारी गवाह

पुलवामा हमले के बाद हुई कार्रवाई

भारत में फरवरी 2019 में पुलवामा आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान के पंजाब प्रांत की पुलिस ने आतंकी फंडिंग के खिलाफ अभियान शुरू किया था और इस मामले में गुजरांवाला में जेईएम के छह कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया था. गुजरांवाला, लाहौर से करीब 130 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है.

सीटीडी ने कहा कि उसकी टीमों ने जेईएम के ‘सुरक्षित ठिकानों’ पर छापेमारी की और संगठन के कुछ सदस्यों को गिरफ्तार किया और उनके पास से लाखों रुपये नकदी बरामद की.

Video-

पाकिस्तान पर बढ़ा दबाव

पुलवामा हमले के बाद अंतरराष्ट्रीय दबाव बढ़ने पर पाकिस्तान सरकार ने जेईएम प्रमुख के बेटे और भाई समेत प्रतिबंधित आतंकी संगठन के 100 से ज्यादा सदस्यों को गिरफ्तार किया था. सरकार ने जेईएम, मुंबई आतंकी हमले के सरगना हाफिज सईद के जमात उद दावा (जेयूडी) और फलाहई इंसानियत फाउंडेशन (एफआईएफ) की संपत्तियों को अपने कब्जे में ले लिया था.

बता दें कि पुलवामा आतंकी हमले की जिम्मेदारी जेईएम ने ली थी. पाकिस्तान की पंजाब सरकार ने बहावलपुर में मदरसा और जामा मस्जिद सुभानल्लाह समेत जेईएम मुख्यालय पर नियंत्रण का दावा किया है. सरकार के मुताबिक वहां 600 छात्र पढ़ाई करते हैं और उनमें से कोई भी आतंकी संगठन से नहीं जुड़ा है. मई 2019 में संयुक्त राष्ट्र ने अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित किया था.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.