OIC की बैठक में सुषमा स्वराज के 'मुख्य अतिथि' बनने से चिढ़ा पाक, नहीं लेगा हिस्सा

कुरैशी ने संसद में कहा कि मैंने उनसे सुषमा स्वराज को दिए न्योते पर पुनर्विचार करने की बात कही थी. 

OIC की बैठक में सुषमा स्वराज के 'मुख्य अतिथि' बनने से चिढ़ा पाक, नहीं लेगा हिस्सा
भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी की फाइल फोटो.

नई दिल्ली: भारत और पाकिस्तान के बीच हुई तनातनी के बाद भी इस्लामी सहयोग संगठन (OIC) के देशों के विदेश मंत्रियों की बैठक में भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को 'विशेष अतिथि' के तौर पर आमंत्रित किया गया है. विदेश मंत्रियों की 46वीं बैठक में शामिल होने के लिए सुषमा स्वराज शुक्रवार को अबु धाबी पहुंच चुकी हैं. इस बीच खबर ये आ रही है कि पाकिस्तान इस बैठक का बहिष्कार करेगा. पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि वह इस बैठक में शामिल नहीं होंगे.

शाह महमूद कुरैशी ने इस मामले पर पाकिस्तान की संसद में बयान दिया कि उन्होंने यूएई से सुषमा स्वराज से निमंत्रण वापस लेने की मांग की थी लेकिन इससे इनकार कर दिया गया. कुरैशी ने संसद में कहा कि मैंने उनसे सुषमा स्वराज को दिए न्योते पर पुनर्विचार करने की बात कही थी. जिस पर यूइई ने कहा कि उन्होंने तब सुषमा स्वराज को न्योता दिया था, जब पुलवामा हमला नहीं हुआ. अब उनके लिए सुषमा स्वराज से निमंत्रण वापस लेना मुमकिन नहीं होगा.

 

एएनआई के मुताबिक, पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि मैं सुषमा स्वराज के मुख्य अतिथि बनाए जाने के बाद सिद्धांतिक रूप से विदेश मंत्रियों की परिषद में भाग नहीं लूंगा. आपको बता दें कि ओआईसी 57 देशों का एक प्रभावशाली समूह है. ऐसा पहली बार है जब भारत को ओआईसी की बैठक में बतौर 'विशेष अतिथि' आमंत्रित किया गया है. यहां पर सुषमा स्वराज दो दिवसीय सम्मेलन में भाग लेंगी.