कोरोना के कहर के बीच पाकिस्तान में हिंदुओं ने ऐसे मनाया रक्षाबंधन

हिंदू समुदाय के एक छोटे से समूह ने पेशावर छावनी स्थित काली बाड़ी मंदिर में आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लिया जहां महिलाओं ने सूबाई विधानसभा के ईसाई सदस्य विल्सन वजीर की मौजूदगी में अपने भाइयों की कलाई पर राखी बांधी. 

कोरोना के कहर के बीच पाकिस्तान में हिंदुओं ने ऐसे मनाया रक्षाबंधन
(फाइल फोटो)

पेशावर: पाकिस्तान (Pakistan) के खैबर पख्तूनख्वा सूबे में अल्पसंख्यक हिंदू समाज के लोगों ने कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी के चलते लागू पाबंदियों के बीच सादगी से रक्षाबंधन का त्योहार मनाया.

हिंदू समुदाय के एक छोटे से समूह ने पेशावर छावनी स्थित काली बाड़ी मंदिर में आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लिया जहां महिलाओं ने सूबाई विधानसभा के ईसाई सदस्य विल्सन वजीर की मौजूदगी में अपने भाइयों की कलाई पर राखी बांधी. कोरोना वायरस के खतरे के चलते अधिकतर लोगों ने घरों में ही रक्षाबंधन का त्योहार मनाया.

खैबर पख्तूनख्वा विधानसभा में कबायली जिले से अल्पसंख्यक समुदाय के पहले सदस्य वजीर ने कहा कि एक बार कोरोना वायरस की महामारी खत्म हो जाए तो सभी त्योहर पूरे उल्लास से मनाए जाएंगे.

उल्लेखनीय है कि कोरोना वायरस से पाकिस्तान में 2,81,136 लोग संक्रमित हुए हैं जिनमें से 6,014 लोगों की मौत हुई है. वहीं, 2,54,286 लोग पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं. इस समय पाकिस्तान में 872 कोविड-19 मरीजों की हालत गंभीर है.