पाकिस्तान को ब्लैकलिस्ट होने का खौफ, FATF जॉइंट ग्रुप से पहले पेश की प्रगति रिपोर्ट

 पाक ने ऐसा इसलिए किया है, ताकि ग्लोबल वाचडॉग की ब्लैकलिस्ट में शामिल होने से बचा जा सके.

पाकिस्तान को ब्लैकलिस्ट होने का खौफ, FATF जॉइंट ग्रुप से पहले पेश की प्रगति रिपोर्ट
फाइल फोटो

इस्लामाबाद: पाकिस्तान (Pakistan) ने कुल 27 कार्ययोजना में से फायनांशियल एक्शन टास्क फॉर्स (एफएटीएफ) के जॉइंट ग्रुप से पहले 22 बिंदुओं पर अपनी प्रगति रिपोर्ट पेश की है. पाक ने ऐसा इसलिए किया है, ताकि ग्लोबल वाचडॉग की ब्लैकलिस्ट में शामिल होने से बचा जा सके. यह जानकारी शनिवार को सामने आई.

LIVE TV...

द न्यूज इंटरनेशनल की रिपोर्ट के अनुसार, अक्टूबर में हुए एफएटीएफ (FATF) की पूर्ण समीक्षा बैठक के दौरान पाकिस्तान की कुल 27 कार्ययोजना में से पांच बिंदुओं पर बड़े पैमाने पर शिकायत की गई थी.वहीं अब पाकिस्तान ने ग्रे लिस्ट से बाहर आने और एफएटीएफ की पूर्ण समीक्षा में ब्लैकलिस्ट में शामिल होने से बचने के इरादे के साथ जॉइंट ग्रुप से पहले बाकी 22 बिंदुओं पर अपनी प्रगति रिपोर्ट पेश की है. 

एफएटीएफ की पूर्ण समीक्षा बैठक फरवरी 2020 में होगी. आधिकारिक सूत्र ने कहा, "एफएटीएफ सभी बिंदुओं की प्रगति पर निगरानी रखना चाहता है, लेकिन उनका अधिक ध्यान डेसिगनेटेड नॉन-फायनांशियल बिजनेस और प्रोफेसंश (डीएनएफबीपी) पर है, खास कर नियमों के तहत रत्नों और आभूषणों पर और गैरकानूनी करार दिए गए संगठनों के दोषी ठहराए गए व्यक्तियों पर है."

(इनपुट: एजेंसी आईएएनएस)