मुसीबत में इमरान! यूएई क्रिकेट मैच देखने पहुंचे गृह मंत्री को बुलाया वापस, ये है वजह
X

मुसीबत में इमरान! यूएई क्रिकेट मैच देखने पहुंचे गृह मंत्री को बुलाया वापस, ये है वजह

पाकिस्तान में इन दिनों एक बड़ा खतरा मडरा रहा है, जिसके चलते यूएई मैच देखने पहुंचे पाकिस्तान के गृह मंत्री शेख रशीद को पीएम इमरान खान ने वापस बुला लिया है.

 

मुसीबत में इमरान! यूएई क्रिकेट मैच देखने पहुंचे गृह मंत्री को बुलाया वापस, ये है वजह

नई दिल्ली. पाकिस्तान (Pakistan) में इन दिनों आंतरिक सुरक्षा का खतरा मंडरा रहा है. इस खतरे को देखते हुए पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) ने संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) पहुंचे पाकिस्तान के गृह मंत्री शेख रशीद (Sheikh Rasheed) को वापस बुला लिया है. रशीद यूएई भारत-पाकिस्तान के बीच रविवार को होने वाले टी-20 विश्व कप क्रिकेट मैच देखने गए थे. 

पाकिस्तान में चल रहे हैं प्रदर्शन

दरअसल, पाकिस्तान में इन दिनों तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान (टीएलपी) के समर्थकों का प्रदर्शन चल रहा है. अपने प्रमुख हाफिज साद हुसैन रिजवी की गिरफ्तारी को लेकर टीएलपी समर्थक प्रदर्शन कर रहे हैं. इस प्रदर्शन में लाहौर में तीन पुलिसकर्मियों की मौत हो चुकी है और कई लोग घायल हो गए हैं. इसके बाद भी गृहमंत्री छुट्टी लेकर क्रिकेट मैच देखने यूएई चले गए.

ये भी पढ़ें: किसी सेलिब्रिटी से कम नहीं 1 साल का ये बच्चा, हर महीने कमाता है 75 हजार रुपये

पीएम से मंजूरी लेकर गए थे यूएई

पाकिस्तान में बिगड़ते हालातों के चलते रशीद को मैच देखे बगैर वापस लौटना पड़ा. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक वे शनिवार को वापस लौटे हैं. राशिद क्रिकेट मैच देखने के लिए इमरान की मंजूरी के बाद यूएई गए थे. टीएलपी का प्रदर्शन और उग्र होने की आशंका है. इस मामले में सरकार ने लाहौर में प्रदर्शनकारियों के प्रतिनिधियों से बात की, लेकिन उसका कोई रिजल्ट नहीं निकला. इसके बाद सरकार ने सुरक्षा व्यवस्था को टाइट करने का फैसला किया. इसके मद्देनजर अर्धसैनिक बलों के करीब 500 जवानों और 1000 फ्रंटियर कर्मियों को तैनात कर दिया गया है.

ये भी पढ़ें: तानाशाही के कारण भुखमरी झेल रहा उत्तर कोरिया, सुसाइड करने को मजबूर हैं लोग!

इस वजह से हो रहे हैं प्रदर्शन

बता दें, टीएलपी समर्थक अपने मुखिया साद हुसैन रिजवी की रिहाई की मांग कर रहे हैं. रिजवी को पुलिस ने 12 अप्रैल को हिंसा भड़काने के आरोप में हिरासत में लिया था, तब से वह पुलिस हिरासत में ही है. इसके साथ ही सरकार ने टीएलपी को भी बैन दिया था. टीएलपी समर्थक इसी कार्रवाई के खिलाफ सड़कों पर प्रदर्शन कर रहे हैं. बीते शुक्रवार को लाहौर से इस्लामाबाद तक रैली निकाली थी. इस दौरान कट्टरपंथी संगठन के कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच हुई झड़प में तीन पुलिसकर्मियों समेत पांच की मौत हो गई.

LIVE TV

Trending news