पाकिस्‍तान पुलिस के IG ने लोगों से बयां किया दर्द, 'मेरी सास, भतीजों, भाई-बहन को खुद लूट लिया गया'

Pakistan : SAMAA TV की रिपोर्ट के अनुसार, सिंध के पुलिस महानिरीक्षक कलीम इमाम ने खुद अपना यह दर्द बयां किया

पाकिस्‍तान पुलिस के IG ने लोगों से बयां किया दर्द, 'मेरी सास, भतीजों, भाई-बहन को खुद लूट लिया गया'
सिंध के पुलिस महानिरीक्षक कलीम इमाम...

कराची : पाकिस्‍तान (Pakistan) में अर्थव्‍यवस्‍था के साथ-साथ कानून-व्‍यवस्‍था इतनी लचर हालत में है कि आम लोग तो छोड़िए खुद आला पुलिस अफसर और उनके घरवाले भी महफूज नहीं हैं. इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि पाकिस्‍तान पुलिस (Pakistan Police) के एक पुलिस महानिरीक्षक (आईजी) ने सामुदायिक पुलिसिंग पर आयोजित एक संगोष्ठी में लोगों के सामने खुद बयां किया कि खुद उनके अपने परिवारवालों को कराची (Karachi) में अपराधियों ने लूट लिया था.

SAMAA TV की रिपोर्ट के अनुसार, सिंध के पुलिस महानिरीक्षक कलीम इमाम ने खुद अपना यह दर्द बयां किया. उन्‍होंने संगोष्‍ठी में कहा, 'मैं खुद इस शहर का बाशिंदा हूं'. उन्‍होंने आगे कहा, 'मेरी सास को लूट लिया गया… मेरे भतीजों को लूट लिया गया, मेरी बहन और भाई को भी लूट लिया गया'. सिंध आईजी ने उपस्थित लोगों से कहा, "लेकिन मैं अभी भी आपके सामने मुस्कुरा रहा हूं". 

प्रांत के शीर्ष पुलिस अफसर ने कहा कि सड़क पर अपराधियों ने उसकी सास से सोने की चूड़ियां लूट ली थीं. उन्होंने कहा कि कराची में अपराध को नियंत्रित करना सुरक्षित शहर परियोजना के बिना संभव नहीं था. सिंध आईजी ने कहा कि बढ़ते अपराधों के पीछे बेरोजगारी और अशिक्षा ही कारक है. 

SAMAA TV द्वारा जुटाए गए आंकड़ों के अनुसार, इस साल अब तक कराची में डकैतियों का विरोध करने की वजह से कम से कम 31 लोग मारे गए हैं और 282 घायल हुए हैं. 2018 में, शहर में डकैती और लूटपाट के दौरान कम से कम 54 लोग मारे गए.