TV पर गले मिलने के सीन को ON Air करने पर लगी रोक, पाकिस्तान में मच गया हंगामा
X

TV पर गले मिलने के सीन को ON Air करने पर लगी रोक, पाकिस्तान में मच गया हंगामा

पाकिस्तान में लोकल टीवी चैनलों के लिए एक अजीबोगरीब नोटिफिकेशन जारी किया गया है, इसके तहत ड्रामों में गले मिलने के सीन (Hugging Scenes) को न दिखाने की बात कही गई है.

TV पर गले मिलने के सीन को ON Air करने पर लगी रोक, पाकिस्तान में मच गया हंगामा

लाहौर: पाकिस्तान इलेक्ट्रॉनिक मीडिया रेगुलेटरी अथॉरिटी (PEMRA) ने शुक्रवार को एक अजीबोगरीब नोटिफिकेशन (Notification) जारी किया, जिसके बाद देश में हंगामा हो गया. इसमें लोकल टीवी चैनलों को आदेश दिया गया कि वह अपने ड्रामों में गले मिलने के सीन (Hugging Scenes) को न दिखाएं. 

देशभर से मिल रही थीं शिकायतें

हमारी सहयोगी वेबसाइट वियोन के मुताबिक, अथॉरिटी ने बताया कि ड्रामा में लगातार बढ़ रही अश्लीलता के कारण उन्हें देश भर से शिकायतें मिल रही हैं. इस वजह से यह कदम उठाया गया है. PEMRA ने सभी टीवी चैनलों को इन-हाउस मॉनिटरिंग कमेटी के माध्यम से नाटकों की सामग्री की ठीक से समीक्षा करने का निर्देश दिया.

इस्लामी संस्कृति के खिलाफ हैं ऐसे सीन

इतना ही नहीं, पेमरा ने नॉटिफिकेशन में बताया, 'सोसायटी के महत्वपूर्ण तबके का मानना ​​है कि ये ड्रामे पाकिस्तानी समाज की सच्ची तस्वीर को नहीं दिखा रहे हैं. नए आदेश के मुताबिक, ड्रामें में गले लगाना, प्यार से दुलारने वाले सीन, विवाहेत्तर संबंध, अश्लील, बोल्ड ड्रेस, बेड सीन और शादीशुदा कपल के रोमांटिक सीन में पाकिस्तानी समाज की इस्लामी शिक्षाओं और संस्कृति के खिलाफ है.'

ये भी पढ़ें:- फैजाबाद जंक्शन का नाम होगा अयोध्या कैंट रेलवे स्टेशन, CM योगी ने दी मंजूरी

तुरंत प्रभाव से लागू हुए नए आदेश

अथॉरिटी ने सभी टीवी चैनलों को इन-हाउस मॉनिटरिंग कमेटी के माध्यम से ड्रामों के कंटेंट को रिव्यू करने और दर्शकों और उनकी आशंकाओं को ध्यान में रखते हुए उन्हें एडिट या बदलाव करने का निर्देश दिया है. साथ ही सभी सैटेलाइट टीवी लाइसेंस तुरंत प्रभाव से ड्रामे में ऐसे कंटेंट को दिखाना बंद करना होगा.

ह्यूमन राइट प्रोफेशनल ने कही ये बात

कानूनी और मानवाधिकार प्रोफेशनल रीमा ओमर (Reema Omer) ने इस अजीबोगरीब नोटिफिकेशन का जवाब देते हुए कहा, 'PEMRA को आखिरकार कुछ सही मिला: विवाहित जोड़ों के बीच अंतरंगता और स्नेह 'पाकिस्तानी समाज का सच्चा चित्रण' नहीं है और इसे 'ग्लैमराइज' नहीं किया जाना चाहिए. हमारी 'संस्कृति' दुर्व्यवहार और हिंसा को कंट्रोल करना है.'

LIVE TV

Trending news