close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अंतरराष्ट्रीय सीमा से सटी सड़कों के जरिए PAK की जम्मू में घुसपैठ कराने की साजिश, BSF अलर्ट

पठानकोट एयरबेस पर हुए हमले के चश्मदीदों से पूछताछ और उनसे बरामद सामानों से ये साफ़ हो चुका है की आतंकी भारत के हमले के लिए इंटरनेशनल बॉर्डर का इस्तेमाल कर रहे हैं.

अंतरराष्ट्रीय सीमा से सटी सड़कों के जरिए PAK की जम्मू में घुसपैठ कराने की साजिश, BSF अलर्ट
फाइल फोटो- डीएनए

नई दिल्लीः बालाकोट के जैश के कैंप पर हुए भारतीय वायु सेना की एयर स्ट्राइक के बावजूद पाकिस्तान अभी सुधरा नहीं है .खुफिया एजेंसियों की नई रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान में बैठे आतंकियों के आका जम्मू से सटी भारत पाकिस्तान सीमा से लगती सड़कों का इस्तेमाल जम्मू में आतंकी हमले के लिए कर सकते हैं. खुफ़िया एजेंसियों की इस रिपोर्ट के बाद सरकार ने बॉर्डर सिक्यूरिटी फ़ोर्स यानि बीएसएफ से कहा है कि वो सीमा पर अपनी कड़ी चौकसी बनाये रखे .

सरकार से बीएसएफ समेत सभी एजेंसीज़ से कहा है कि वो ये पता लगाये की जम्मू से सटे पाकिस्तान के इलाके में वो कौन कौन से लॉन्चिंग पैड हैं जिनके जरिये आतंकी घुसपैठ कर सकते हैं .केंद्रीय सुरक्षा में तैनात एक अधिकारी के मुताबिक, हम ये पता कर रहे है कि वो कौन कौन से लॉन्चिंग पैड है जिनका इस्तेमाल आतंकी घुसपैठ के लिए कर सकते हैं और साथ ही सीमा के पार कितने आतंकी जमा हैं .जम्मू में हुए पिछले कुछ आतंकी हमले के लिए भी आतंकियों द्वारा इन सडकों का इस्तेमाल किया जा चुका है.

पठानकोट एयरबेस पर हुए हमले के चश्मदीदों से पूछताछ और उनसे बरामद सामानों से ये साफ़ हो चुका है की आतंकी भारत के हमले के लिए इंटरनेशनल बॉर्डर का इस्तेमाल कर रहे हैं. दीनानगर टेररिस्ट अटैक केस में जो डिवाइस बरामद हुई, उसके जीपीएस डेटा से भी अहम जानकारी  मिली थी. साथ ही इन सब केस में कॉल डीटेल रेकॉर्ड और टेक्निकल ऐनालिसिस के जरिए भी जांच एजेंसियों को इन रास्तों के जरिये भारत में घुसपैठ के सबूत मिल चुके हैं .