PoK के लोगों का Pakistan के खिलाफ प्रदर्शन, आतंकी कैंपों के खिलाफ खोला मोर्चा

Protest Outside UN Human Rights Council's Office: प्रदर्शनकारियों ने पाकिस्तान से पीओके में बने आतंकी कैंप हटाने की मांग की है. उन्होंने कहा कि वो पाकिस्तान से डरते नहीं हैं.

PoK के लोगों का Pakistan के खिलाफ प्रदर्शन, आतंकी कैंपों के खिलाफ खोला मोर्चा
जिनेवा में पाकिस्तान के खिलाफ प्रदर्शन | फोटो साभार- ANI

जिनेवा: पाकिस्तान (Pakistan) के खिलाफ स्विट्जरलैंड (Switzerland) में संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार संगठन (UN Human Rights Council) के मुख्यालय के बाहर पीओके (Pok) के राजनीतिक कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया. प्रदर्शन करने वालों का आरोप है कि पाकिस्तान ने PoK में आतंकवादियों के ट्रेनिंग कैंप (Terror Camp In PoK) बना रखे हैं. प्रदर्शनकारियों ने पाकिस्तान से उन ट्रेनिंग कैंपों को बंद करने की मांग की है.

PoK में आतंकी कैंपों की मौजूदगी के खिलाफ प्रदर्शन

जान लें कि जो बात PoK के लोग आज कह रहे हैं वही बात भारत लंबे समय से दुनिया को बताता आ रहा है कि PoK में पाकिस्तान ने आतंकी ट्रेनिंग कैंप बना रखे हैं, जहां से आतंकियों की भारत में घुसपैठ कराई जाती है. भारत ने पाकिस्तान से PoK खाली करने के लिए कहा है.

ये भी पढ़ें- आतंकवाद पर प्रहार, UN को सीख देकर भारत लौट रहे PM मोदी; जानें भाषण की बड़ी बातें

इन पार्टियों ने पाकिस्तान के खिलाफ किया प्रदर्शन

बता दें कि जिनेवा में ये प्रदर्शन यूनाइटेड कश्मीर पीपुल्स नेशनल पार्टी (UPNP), स्विज कश्मीर ह्यूमन राइट्स (SKHR) और जम्मू कश्मीर इंटरनेशनल पीपुल्स अलायंस (JKIPA) ने मिलकर किया. ह्यूमन राइट्स काउंसिल के 48वें सेशन के दौरान प्रदर्शनकारियों ने प्रदर्शन किया. उन्होंने पीओके से आतंकी कैंपों को हटाने की मांग की.

पाकिस्तान के निओ-फासिज्म से पीड़ित हैं लोग

निर्वासित पीओके नेता सरदार शौकत अली कश्मीरी ने कहा कि हम पाकिस्तान के निओ-फासिज्म से पीड़ित हैं. हम पाकिस्तान के आतंकियों से सताए हुए हैं. हम पाकिस्तान की सत्ता से दूर हैं. हमारी संस्कृति को नुकसान पहुंचाया जा रहा है.

ये भी पढ़ें- यहां मिला कोरोना वायरस का सबसे खतरनाक R.1 वैरिएंट, एक्सपर्ट्स ने दी ये चेतावनी

उन्होंने आगे कहा कि सिर्फ पीओके और गिलगिट बाल्टिस्तान के लोग ही पाकिस्तान के अत्याचार से पीड़ित नहीं हैं, बलूच और सिंधी भी पाकिस्तान से परेशान हैं. हम पाकिस्तान से नहीं डरेंगे. हम अपने ऐतिहासिक मौलिक अधिकारों के लिए लड़ रहे हैं.

प्रदर्शनकारियों ने संयुक्त राष्ट्र को एक मेमोरेंडम भी सौंपा, जिसमें पाकिस्तान की मीडिया और पत्रकारों के लिए चिंता जताई गई. कहा गया कि पीओके और गिलगिट बाल्टिस्तान के लोगों ने इससे पहले पाकिस्तान की सरकार से इतना खतरा कभी महसूस नहीं किया.

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.