close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राहुल की कश्मीर यात्रा ने पाक को दिया भारत को कोसने का मौका, कुरैशी ने दी लोकतंत्र की दुहाई

राहुल गांधी और विपक्ष के  नेताओं को श्रीनगर से वापस लौटाने के फैसले के बाद पाकिस्तान विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने मोदी सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने इस्लामाबाद में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर जमकर भारत सरकार को कोसा. कांग्रेस और विपक्ष पर जमकर प्यार लुटाया.

राहुल की कश्मीर यात्रा ने पाक को दिया भारत को कोसने का मौका, कुरैशी ने दी लोकतंत्र की दुहाई

नई दिल्ली: कांग्रेस और विपक्षी दल एक बार फिर से पाकिस्तान के हाथ की कठपुतली बन गए. जम्मू कश्मीर प्रशासन की तमाम अपील को दरकिनार करते हुए राहुल गांधी के नेतृत्व में विपक्षी दल शनिवार को घाटी के दौरे पर निकले. हालांकि पुलिस ने उन्हें श्रीनगर एयरपोर्ट से ही वापस भेज दिया. दिल्ली लौटकर सभी ने एक सुर में सरकार पर निशाना साधा.

पाकिस्तान इसी मौके की तलाश में बैठा था. पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी तुरंत बीच में आ धमके. इस्लामाबाद में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर जमकर भारत सरकार को कोसा. कांग्रेस और विपक्ष पर जमकर प्यार लुटाया. मीडिया से कहा, मोदी सरकार का चेहरा सामने आ गया है. आज पूरी दुनिया ने देख लिया है. कैसे उन्होंने अपने ही दलों को कश्मीर नहीं जाने दिया. कुरैशी यहीं नहीं रुके, बोले-मैं पूरी दुनिया के देशों को कहता हूं कि देखें भारत अपने ही देश की पार्टी के लोगों के साथ कैसा व्यवहार कर रहा है. ऐसे में हम उनसे क्या उम्मीद कर सकते हैं.

कांग्रेस और विपक्ष बना है पाक की कठपुतली
कश्मीर में अनुच्छेद 370 में परिवर्तन के बाद कांग्रेस सहित दूसरे विपक्षी दल वही भाषा बोल रहे हैं, जो पाकिस्तान भारत को बदनाम करने के लिए दुनिया के सामने बोल रहा है. एक तरह से ये सभी दल पाकिस्तान की राह आसान करने का काम कर रहे हैं. हालांकि अभी तक उसे इस दिशा में बड़ी कामयाबी मिली नहीं है.

जम्मू-कश्मीर में हालात सामान्य नहीं : राहुल
पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को विपक्षी दलों के प्रतिनिधिमंडल को कश्मीर का दौरा करने की अनुमति नहीं दिए जाने को लेकर सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि इससे संकेत मिलता है कि घाटी में हालात सामान्य नहीं हैं. राहुल गांधी समेत विपक्षी दलों के 12 नेताओं के प्रतिनिधिमंडल को श्रीनगर हवाईअड्डे पर उतरते ही रोक लिया गया. उन्हें वापस दूसरी उड़ान से दिल्ली भेजे जाने तक हवाईअड्डा पर ही प्रतीक्षा करनी पड़ी. वे शाम 6.45 बजे वापस दिल्ली पहुंचे.

दिल्ली पहुंचने पर राहुल गांधी ने संवाददाताओं को बताया कि कुछ दिनों पहले राज्यपाल ने उनको जम्मू-कश्मीर आने के लिए आमंत्रित किया था और उन्होंने उनके आमंत्रण को स्वीकार किया था.

उन्होंने कहा, "हम लोगों का हालचाल लेना चाहते थे लेकिन हमें हवाईअड्डे से बाहर जाने की अनुमति नहीं दी गई." कांग्रेस नेता ने सरकार की आलोचना करते हुए कहा, "हमारे साथ जो प्रेस के लोग थे, उनके साथ बदसलूकी की गई और उनको पीटा गया. इससे जाहिर है कि जम्मू-कश्मीर में हालात सामान्य नहीं हैं."