सैटेलाइट तस्वीरों से खुली चीन की साजिश की पोल, कराची में देखे गए ड्रैगन के युद्धपोत

एक रिपोर्ट के मुताबिक चीनी नौसेना पाकिस्तान के साथ सैन्य अभ्यास भी करती है. जिस जगह इन दो देशों के बीच सैन्य अभ्यास जारी है वो  भारत की तटीय सीमाओं से (India’s coastal borders) से बेहद नजदीक है.

सैटेलाइट तस्वीरों से खुली चीन की साजिश की पोल, कराची में देखे गए ड्रैगन के युद्धपोत

ई दिल्लीः चीन और पाकिस्तान का कनेक्शन किसी से छिपा नहीं है. एक रिपोर्ट के मुताबिक चीनी नौसेना पाकिस्तान के साथ सैन्य अभ्यास भी करती है. जिस जगह इन दो देशों के बीच सैन्य अभ्यास जारी है वो  भारत की तटीय सीमाओं से (India’s coastal borders) से बेहद नजदीक है. फोर्ब्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तानी नौसेना की पनडुब्बियों (Pakistani Navy submarines) को कराची के पास चीनी नौसेना के युद्धपोतों के बीच में देखा गया था.

फोर्ब्स का दावा है कि चीनी युद्धपोतों के साथ पाकिस्तान की पनडुब्बी भी कराची बंदरगाह पहुंची हैं. अब सैटेलाइट इमेज से भी यह साफ हो गया है कि चीनी युद्धपोतों की रक्षा के लिए पाकिस्तान ने अपनी हमलावर पनडुब्बी अगोस्टा-90 बी को तैनात किया था. बता दें कि अगोस्टा-90 बी टाइप की पनडुब्बी का संचालन एशिया में सिर्फ पाकिस्तान और मलेशिया ही करते हैं. फ्रांस से पाकिस्तान ने इस पनडुब्बी को खरीदा था और यह परमाणु मिसाइल बाबर-3 को लॉन्च करने में सक्षम है.

फोर्ब्स की रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तानी नौसेना अपनी ताकत को बढ़ाने के लिए चीनी डिजाइन पर आधारित टाइप 039 बी युआन क्लास की पनडुब्बी  की खरीद कर रही है. चीन की यह पनडुब्बी पाकिस्तान नेवी की ताकत में इजाफा करने में सक्षम है जिसमें एंटी शिप क्रूज मिसाइल लगी है. यह पनडुब्बी एयर इंडिपैंडेंट प्रपल्शन सिस्टम के कारण कम आवाज पैदा करती है जिससे पानी के नीचे पता लगाना  मुश्किल होता है.

फोर्ब्स की रिपोर्ट में बताया गया है कि चीनी नेवी के जहाज जनवरी में पाकिस्तानी बेड़े के साथ सैन्य अभ्यास कर रहे थे जिसे 'सी गार्जियन -2020' कहा जाता था. पनडुब्बी अभ्यास कराची के एक कॉर्डन-ऑफ वाणिज्यिक डॉक में हुआ था. पाकिस्तान की 5 अगोस्टा 90 बी टाइप पनडुब्बी फ्रांस में फ्रांस में बनी हुई हैं. इनमें से तीन एयर इंडिपेंडेंट पॉवर के साथ अपग्रेड की गई हैं. ये पनडुब्बियां पाकिस्तानी नौसेना के बेड़े में शक्तिशाली और आधुनिक है. इन पनडुब्बियों को आधुनिक लड़ाकू सिस्टम और AS-39 एक्सोसेट एंटी-शिप मिसाइल से लैस किया गया है.